पूर्व उप-प्रधानमन्त्री और बीजेपी के वरिष्ट नेता लालकृष्ण आडवाणी को बड़ा झटका देते हुए एनडीए की ओर से बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया गया है.

नई दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि एनडीए के सभी दलों ने कोविंद के नाम पर सहमति जतायी है.

शाह ने कहा, ‘कोविंद हमेशा दलितों और पिछड़े के लिए संघर्ष करते रहे हैं. आशा करते हैं कि कोविंद के नाम पर सभी दल सहमत होंगे.’ कोविंद बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रह चुके हैं. इसके अलावा वह दो बार राज्यसभा और संसदीय समिति के सदस्य भी रह चुके हैं. कोविंद सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट में वकालत कर चुके हैं.

इस बीच, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कहा है कि उनकी पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए प्रत्याशी रामनाथ कोविंद का समर्थन करेगी, क्योंकि वह दलित नेता हैं, तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके लिए स्वयं फोन कर अनुरोध किया था.

इनसे पहले जो पार्टियां प्रधानमंत्री की पसंद को समर्थन देने की बात कह चुकी हैं, उनमें तमिलनाडु में सत्तारूढ़ ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (एआईएडीएमके) तथा आंध्र प्रदेश में सत्तासीन तेलुगूदेशम पार्टी (टीडीपी) शामिल हैं.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?