नई दिल्ली | बुधवार को प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सभी प्रकार के BS-3 वाहनों पर प्रतिबंध लगा दिया. सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में 1 अप्रैल से BS-3 वाहन की बिक्री और रजिस्ट्रेशन पर रोक लगा दी. अदालत के फैसले का सबसे ज्यादा प्रभाव दुपहिया वाहन बनाने वाली कंपनियों पर हुआ है. चूँकि चुपहिया वाहन पहले ही BS-4 स्टेज को अपना चुके है इसलिए उनको इस फैसले से ज्यादा नुक्सान नही हुआ.

मिले आंकड़ो के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 8.24 लाख वाहनो के भविष्य पर प्रश्न चिन्ह लग गया है. इनमे से अकेले 6.71 लाख दुपहिया वाहन है. दुपहिया वाहन बनाने वाली कंपनियों ने अपने सभी डीलरों को निर्देश दिया है की वो 31 मार्च तक सभी BS-3 वाहनों का स्टोक खत्म करे दे. इसके लिए कई कंपनियों ने भारी छूट कीपेशकश की है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

छूट देने वाली कंपनियों में हीरो मोटर कोर्प, हौंडा स्कूटर एंड मोटरसाइकिल , टीवीएस, सुजुकी, बजाज शामिल है. हीरो मोटर कोर्प ने अपने स्कूटर पर 12500 , प्रीमियम बाइक्स पर 7500 और शुरुआती बाइक्स पर 5000 रूपए छूट देने का एलान किया है. वही हौंडा सबसे अधिक 22500 रूपए तक छूट दे रही है. हालाँकि कंपनी ने शुरुआती छूट 10 हजार रूपए से शुरू की थी. वही टीवीएस और बजाज भी 10 हजार रूपए तक की छूट दे रही है. लेकिन यह छूट केवल 31 मार्च तक ही मिलेगी.

गुरुवार से छूट की जानकारी मिलते ही दुपहिया वाहन डीलरों के पास भारी भीड़ लग रही है. इसलिए अगर आप दुपहिया वाहन खरीदना चाहते है तो आज का दिन आपके लिए बेहद अहम् है. कहते है की किसी के नुक्सान से किसी का फायदा होता है. यह कहावत दुपहिया वाहन कंपनियों के लिए सटीक बैठ रही है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जहाँ कंपनिया भारी घाटे झेलने को मजबूर है वही ग्राहकों की बल्ले बल्ले हो रही है.

Loading...