बाबरी मस्जिद की शहादत के मामलें में सुप्रीम कोर्ट ने आज अहम फैसला देते हुए कहा कि आडवाणी, जोशी, उमा भारती समेत 13 पर आपराधिक साजिश का केस चलेगा. साथ ही इस मामलें में रोजाना सुनवाई भी होगी. कोर्ट ने कहा कि स्पेशल कोर्ट 2 साल में मामले की सुनवाई पूरी करे.

सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई की पिटिशन पर फैसला सुनाते हुए कहा कि इस मामले में चल रहे दो अलग-अलग मामलों को एक कर दिया जाए और रायबरेली में चल रहे मामले की सुनवाई भी लखनऊ मे की जाए. राजस्थान के गवर्नर कल्याण सिंह को कोर्ट ने इस मामले पर अलग रखा है. दरअसल, गवर्नर होने की वजह से उन्हें इस मामले पर छूट मिली हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कल्याण सिंह जब तक गवर्नर पद पर हैं, तब तक उन्हें इस केस से दूर रखा जाए। उनके खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं होगा. कोर्ट ने कहा कि इस मामले की सुनवाई डे-टू-डे हो. साथ ही सामान्य हालातों में केस की सुनवाई को टाली न जाए. जब तक सुनवाई पूरी न हो तब तक जज का ट्रांसफर नहीं हो सकेगा. साथ ही सीबीआई को भी आदेश दिया है कि इस मामले में रोज उनका वकील कोर्ट में मौजूद रहे.
इससे पूर्व 6 अप्रैल के आदेश को सुरक्षित रखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि हम इस मामले में इंसाफ़ करना चाहते हैं. महज़ टेक्निकल ग्राउंड पर इनको राहत नहीं दे सकती और उनके खिलाफ साज़िश का ट्रायल चलना चाहिए. हम डे टू डे सुनवाई कर दो साल में सुनवाई पूरी कर सकते हैं.
Loading...