supremecourt-ked-621x414livemint

नयी दिल्ली – एक बेहद ज़रूरी खबर सुप्रीम कोर्ट से आ रही है जहाँ सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए कहा की धर्म को आधार बनाकर वोट माँगना गैर क़ानूनी है, सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से उन पार्टियों में खलबली मचना तय है जो धर्म के नाम पर वोट मांगती आई है. हिंदुत्व केस में सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने मामले में दोनों पक्षों की दलील सुन कहा कि चुनाव में धर्म का इस्तेमाल करना गैरकानूनी है। सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला तब दिया है उत्तर प्रदेश, पंजाब सहित देश के कई राज्यों में इस साल चुनाव होने हैं।

सुप्रीम कोर्ट की 7 जजों की सांविधानिक पीठ ने कहा, ‘धर्म, जाति, भाषा के आधार पर वोट नहीं मांगा जा सकता है। हमारा संविधान धर्मनिरपेक्ष है और उसकी इस प्रकृति को बनाए रखना चाहिए। उम्मीदवार या एजेंट धर्म का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।’

कोर्ट ने यह फैसला हिंदुत्व मामले से जुड़ी कई याचिकाओं की सुनवाई के दौरान दिया। इससे पहले सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ ने एक याचिका में कोर्ट से हस्तक्षेप की मांग की थी जिसमें कहा गया था कि धर्म और राजनीति को मिलाया नहीं जाना चाहिए और धर्म और राजनीति को एक-दूसरे से अलग करने के लिए निर्देश जारी किया जाना चाहिए।


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें