लॉक डाउन: पति की मौत के बाद खुर्शीदा को नहीं मिला खाना, तीन दिन बाद पुलिस ने की मदद

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बेहद ही दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक महिला को अपने पति की मौत के बाद घर में राशन न होने की वजह से भूखा रहना पड़ा। आखिरकार पुलिस को खबर मिली और पुलिस ने खाना पहुंचाया।

न्यूज़ 18 के अनुसार, काजी कैंप गली नंबर 2 में रहने वाली महिला खुर्शीदा तीन दिनों से भूखी थी। महिला ने 100 नंबर पर फोन डायल करके पुलिस को सूचना दी कि वह पिछले तीन दिनों से भूखी है। घर में राशन नहीं है। खुर्शीदा ने पुलिस को बताया कि 23 मार्च को ही महिला के पति की मौत हो गई थी जिसके चलते महिला के घर में कोई राशन मौजूद नहीं था।

इसके बाद हनुमानगंज पुलिस ने महिला की मदद के लिए सहायता राशि जुटाई। हनुमानगंज पुलिस ने महिला को एक महीने का राशन उसके घर जाकर दिया। राशन ही नहीं महिला की जरूरत का हर सामान भी महिला को उपलब्ध कराया। पुलिस ने महिला को राशन सौंपने के बाद उन्हें घर से बाहर ना निकलने की कसम खिलाई। पुलिस ने महिला को यह भरोसा दिलाया कि उसको जरूरत पड़ने पर मदद दी जाएगी।

बता दें कि उज्जैन की 17 वर्षीय किशोरी समेत प्रदेश में पांच और मरीजों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई। इसके साथ ही सूबे में इस संक्रमण की जद में आए लोगों की संख्या बढ़कर 39 हो गई है। इनमें से दो लोगों की पहले ही मौत हो चुकी है।

इंदौर के शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय की ओर से जारी बुलेटिन के मुताबिक, कोरोना वायरस संक्रमण के नये मरीजों में उज्जैन की 17 वर्षीय किशोरी के अलावा इंदौर का 21 वर्षीय युवक और 38 से 48 वर्ष के बीच के तीन पुरुष शामिल हैं।

विज्ञापन