कृषि कानून (APMC Act) के विरोध में बुलाए गए भारत बंद (Bharat Bandh) का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। आज करीब 50 संगठनों ने भारत बंद बुलाया है। 11 राज्य सरकारें इस बंद का समर्थन कर रही हैं। इसके अलावा बंद को 11 राजनीतिक दलों ने भी अपना समर्थन दिया है।

यूपी की राजधानी लखनऊ में पुलिस ने किसान मंच के प्रदेश अध्यक्ष देवेंद्र तिवारी को हिरासत में ले लिया गया। कानून-व्यवस्था बिगड़ने की आशंका में पुलिस ने उन्हें उनके ऑफिस से हिरासत में लिया। वाराणसी में दर्जन भर से ज्यादा समाजवादी पार्टी के नेताओं को उनके घर में ही नजरबंद किया गया है।

आम आदमी पार्टी ने ट्वीट कर जानकारी दी कि दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को घर पर नज़रबंद किया है, मुख्यमंत्री कल जब सिंघु बॉर्डर गए थे तभी से उन्हें नज़रबंद किया हुआ है। आम आदमी पार्टी का कहना है कि घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है और अब बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है. इसकी वजह से दिल्ली सीएम की सभी बैठकें रद्द हो गई हैं।

हरियाणा के रोहतक के डी-पार्क इलाके के मार्केट किसानों के समर्थन में बंद हैं। व्यापारियों ने अपनी दुकान के सामने ऐसे पोस्टर्स लगाकर किसानों के प्रति अपने समर्थन का इजहार किया है। पंजाब के मोहाली के चिल्ला गांव में किसानों ने एयरपोर्ट की ओर जाने वाली सड़क को ब्लॉक कर दिया। यूपी के गाजियाबाद में एनएच 9 जाम कर दिया।

ट्रक संगठनों की शीर्ष संस्था ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने बंद में शामिल होने का फैसला किया है और आज अपना परिचालन निलंबित रखा है। महाराष्ट्र राज्य ट्रक टेंपो टैंकर्स वाहतुक संघ के सचिव दया नाटकर ने कहा कि दूध, सब्जियों और फल जैसी जरूरी वस्तुओं की ढुलाई को इस बंद से बाहर रखा गया है।

तेलंगाना के कामरेड्डी में सड़क परिवहन निगम के कर्मचारी भारत बंद को अपना समर्थन दे रहे हैं। एक बस चालक का कहना है, “हम आरटीसी के कार्यकर्ता यहां विरोध कर रहे हैं। किसानों के साथ अन्याय नहीं होना चाहिए।” पंजाब के अमृतसर में भारत बंद के समर्थन में दुकानें बंद दिखीं। किसान मज़दूर संघर्ष कमेटी के महासचिव ने बताया, “दुकानें लगभग बंद हैं, इमरजेंसी सेवा बहाल है। लोग अपने मन से शटर बंद कर रहे हैं।”

कोलकाता में जादवपुर के नजदीक सीपीएम नेताओं ने केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने यहां नारे लगाए और पुतले भी फूंके। सीपीएम नेता सुजान चक्रवर्ती ने कहा कि पश्चिम बंगाल में किसानों के समर्थन में पूर्ण बंदी है। हमें लगता है कि ऐसे हालात पूरे देश में होंगे। कोलकाता के जादबपुर रेलवे स्टेशन पर वाम दलों ने ट्रेनों की आवाजाही रोकी।

गुजरात के अलग-अलग इलाकों में किसानों के बंद के समर्थन में लोगों ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने ग्रामीण गुजरात के तीन राजमार्गों को ब्लॉक कर दिया। सानंद के पास अहमदाबाद को विरामगाम से जोड़ने वाले हाइवे पर कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जलता हुआ टायर रख दिया, जिससे वहां लंबा जाम लग गया। वड़ोदरा के पास एक हाइवे पर प्रदर्शनकारियों के एक अन्य समूह ने सड़क को ब्लॉक कर दिया। इसके अलावा भरूच और दहेज को जोड़ने वाले रास्ते को भी प्रदर्शनकारियों ने जाम कर दिया।

कर्नाटक के मैसूर में किसानों के एक समूह ने केएसआरटीसी बस स्टैंड का प्रवेश द्वार ब्लॉक कर दिया। प्रदर्शनकारियों में दलित, छात्र और महिला संगठन भी शामिल हैं। ओडिशा में भारत बंद का असर दिखने लगा है। वामपंथी दलों और ट्रेड यूनियनों ने मंगलवार सुबह भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन पर जाकर ट्रेनों को रोक दिया।