आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा आगामी विधानसभा चुनावों से ठीक पहले राम मंदिर निर्माण का मुद्दा उठाने को लेकर मातृसदन के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद सरस्वती ने तंज़ कसा है। उन्होने कहा कि राम मंदिर निर्माण की बात करने वाले भागवत गंगा पर कुछ क्यों नहीं बोलते है।

बुधवार को शिवानंद ने कहा कि जिस प्रकार बाबर के समय में राममंदिर टूटा, ठीक उसी प्रकार आज मां गंगा को नष्ट किया जा रहा हैं। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत जैसे राममंदिर के निर्माण की बात हरिद्वार में कहते हैं, लेकिन करोड़ों ङ्क्षहदुओं की आस्था और अस्मिता की प्रतीक गंगाजी के बारे में कुछ नहीं कहते हैं।

उन्होने आगे कहा, भागवत एशोआराम से रहने वाले ऐसे संतों के साथ धर्म संसद कर लौट जाते हैं, जिन्हें न तो धर्म के बारे में कुछ पता है और न ही उन्हें धर्म से कोई मतलब है। जबकि हरिद्वार में 104 दिन से तप कर रहे स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद की तरफ उनका ध्यान नहीं जाता है।

bhagw

अतिक्रमण के मामले में स्वामी शिवानंद सरस्वती ने कहा कि अतिक्रमण हटाने को लेकर सरकार और प्रशासन हाईकोर्ट के आदेश का पूरी तरह पालन नहीं कर रहे हैं। दरअसल, आदेश में यह भी कहा गया है कि जिस अधिकारी के कार्यकाल में अतिक्रमण हुए, उन पर भी कार्रवाई हो, लेकिन अधिकारियों पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

बता दें कि मोहन भागवत ने हाल ही में कहा कि राम मंदिर का बनना तय है और इसे कोई नहीं टाल सकता। इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत आज हिन्दू बहुलता वाला एकमात्र देश है और भारतीय सभ्यता ही ऐसी एकमात्र सभ्यता है जो विदेशियों के आक्रमण के बावजूद सुरक्षित बची हुई है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन