रामजस कॉलेज के विवाद के बाद सोशल मीडिया पर एबीवीपी के खिलाफ ऑनलाइन कैंपेन शुरु करने वाली दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा गुरमेहर कौर के मामलें में बीजेपी के तेवर ढीले पढ़ गए हैं. ये सब गुरमेहर को मिल रहे बड़े पैमाने पर समर्थन के बाद होता दिख रहा हैं.

कथित्त तौर पर एबीवीपी कार्यकर्ताओं की और से मिली गैंगरेप की धमकी के बाद गुरमेहर कौर ने खुद को इस कैंपेन से अलग कर लिया हैं. वहीँ जो लोग गुरमेहर कौर के खिलाफ थे उन्होंने भी अपने सुर बदल लिए है. बुधवार को पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग और ऐक्टर अनुपम खेर ने भी गुरमेहर का समर्थन किया हैं.

सहवाग ने भी ट्वीट में लिखा, ‘हर किसी को बिना डरे अपने विचार रखने का हक है. गुरमेहर कौर हों या फिर फोगाट बहनें.’ अनुपम खेर ने कहा कि शहीद की बेटी का रुख सही है. उन्होंने कहा, ‘उसका यह कहना सही है कि कोई नहीं चाहता कि जंग हो. सीमाओं पर तैनात सैनिक देश की हिफाजत करने के लिए हैं, गोली खाने के लिए नहीं.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ केंद्रीय टेलिकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘हर किसी को अभिव्यक्ति की आजादी है. लेकिन यह कहना कि कश्मीर या बस्तर को आजाद होना चाहिए, गलत है.’ विवाद को ज्यादा हवा देने वाले केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने भी अपने सुर बदलते हुए कहा कि ‘मैं चुनाव प्रचारों की वजह से मणिपुर में था और मुझे सारी बातें नहीं पता थीं. मैं उस स्टूडेंट के अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का पूरा समर्थन करता हूं.’ हालांकि इससे पहले उन्होंने कहा था, ‘पता नहीं, इस लड़की का दिमाग कौन प्रदूषित कर रहा है?’

पाकिस्तान-इंडिया पीपल्स फोरम फॉर पीस ऐंड डेमोक्रेसी ने एक बयान में कहा कि गुरमेहर के वक्तव्य ने युद्ध की निरर्थकता रेखांकित की है. फोरम ने कहा, सचाई यह है कि युद्ध और दुश्मनी ने लोगों की जानें ली है जबकि लाखों इसका खामियाजा उठा रहे हैं. भारत और पाकिस्तान को अन्य महाशक्तियों के साथ मिलकर अमन कायम करने की दिशा में आगे बढ़ना चाहिए.

सिखों के शीर्ष संगठन अकाल तख्त के प्रमुख ज्ञानी गुरबचन सिंह ने कहा कि सिख समुदाय गुरमेहर कौर के साथ है. अकाल तख्त के जत्थेदार ने कहा कि यह बेहद दुभार्ग्यपूर्ण है कि सिख धर्म और इसके वचनों से अनभिज्ञ कुछ लोग सिख लड़की गुरमेहर को धमकियां दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि सिख समुदाय ने क्रूर लोगों से हमेशा ही लड़कियों को बचाया है. जत्थेदार ने कहा कि संकट के समय में पूरा सिख समुदाय गुरमेहर के साथ खड़ा है. उन्होंने दिल्ली सरकार से गुरमेहर को धमकियां देने वाले लोगों के खिलाफ कड़े कदम उठाने की मांग की और कहा कि ऐसा नहीं होने की स्थिति में सिख समुदाय मूक दर्शक बनकर नहीं रहेगा.

वहीँ कांग्रेस ने सेना के शहीद की बेटी गुरमेहर कौर की साख पर सवाल उठाने के लिए केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू का इस्तीफा मांगा. कांग्रेस नेता मनप्रीत बादल ने कहा, गुरमेहर कौर पंजाब की बेटी नहीं बल्कि भारत की बेटी है. किरण रिजिजू का काम उनकी रक्षा करना है क्योंकि सरकार को शहीद की बेटी की हिफाजत करनी चाहिए. उन्होंने कहा, इसकी जगह उनकी साख पर सवाल करना बेहद दुभार्ग्यपूर्ण है. अगर किरण रिजिजू को जरा भी शर्म है तो उन्हें तुरंत इस्तीफा देना चाहिए. कांग्रेस नेता ने कहा, यह वो सरकार है जो देश को बांट रही हे. मैं राज्यमंत्री के इस्तीफे की मांग करता हूं. उन्होंने कहा कि यह अपनी तरह की कोई अकेली घटना नहीं है.

Loading...