baord

baord

आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने ट्रिपल तलाक के मुद्दें पर कहा कि तीन तलाक विधेयक के जरिए धोखा दिया जा रहा है. इस बिल के जरिए तलाक के सभी जरियों पर पाबंदी लगाई जा रही है.

प्रेस वार्ता में बोर्ड की ओर से कहा गया कि वे जल्‍दी ही अहम बैठक करने जा रहे हैं. जिसमें संसद में लंबित पड़े तीन तलाक बिल पर चर्चा की जाएगी. बैठक में इस बिल की स्थिति, योजना और आगे की संभावनाओं पर चर्चा की जाएगी. इस दौरान मु‍स्लिम पर्सनल लॉ के जितने भी मामले न्‍यायालयों में होंगे, उनको भी शामिल किया जाएगा.

बोर्ड के प्रवक्ता नौमानी ने कहा कि भारत के नागरिक होने पर हमें शर्म आ रही है. ट्रिपल तलाक के क़ानून की आत्मा ही ठीक नहीं है, अगर मौजूद खामियों को दूर कर दिया जाए तो ये क़ानून हमें स्वीकार है. उन्होंने दावा किया कि काफी वक्त पहले उन्होंने पीएम मोदी को पत्र लिखा था लेकिन अभी तक उनकी ओर से कोई भी जवाब नहीं आया है.

ध्यान रहे इससे पहले ट्रिपल तलाक को रोकने के लिए बोर्ड ने बड़ा फैसला लेते हुए निकाहनामा में बदलाव करने का निर्णय लिया है. जिसके तहत निकाहनामा में दुल्हे को लिखकर देना होगा कि वह तीन तलाक नहीं देगा.

बोर्ड ने मॉडल निकाहनामा भी पेश किया है. जिसके ठाट ‘इस मॉडल निकाहनामे में एक कॉलम और जोड़ा जाएगा. इस कॉलम में लिखा होगा कि मैं तीन तलाक नहीं दूंगा.’ निकाह के वक्त ही दुल्हे से इस कॉलम में दस्तखत करा लिए जायेंगे. जिसके बाद वह अपनी बीवी को एक साथ तीन तलाक नहीं दे पायेगा.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?