बीते चार महीनों से लापता जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्र नजीब अहमद की माता ने रामजस कॉलेज विवाद को लेकर दिल्ली पुलिस पर सवाल उठाते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस जो वीरता छात्रों पर लाठियां बरसाने में दिखा रही हैं, वह वीरता मेरे बेटे को ढूढ़ने में क्यों नहीं दिखाती हैं.

नजीब की मां फातिमा नफीस ने कहा कि, प्रधानमंत्री मोदी की दिल्ली पुलिस कितनी बहादुर है कैंपस में छात्रों को बेरहमी से पीटती है. बेटियों को सरेआम मारती है. इनको मारकर वीरता दिखाती है. लेकिन मेरे बेटे को नहीं ढूंढ पाती है. ये सच में बुजदिल है इन्हें अपने आकाओं की ड्यूटी करनी आती है सिर्फ इन्हें अपने कर्तव्य याद नहीं रह गए हैं.

इसके साथ ही उन्होने कहा कि उनका दिल्ली पुलिस पर से विश्वास उठ गया है. उन्होंने कहा, दिल्ली पुलिस का रवैया विश्वास करने लायक नहीं है. हमने बंदी प्रत्यक्षीकरण के तहत हाईकोर्ट में रिट दाखिल किया है. मेरे बेटे को गायब हुए चार महीने से भी ज्यादा का वक्त गुजर गया है पर अभी तक दिल्ली पुलिस कुछ भी नहीं किया है.’

उन्होंने नजीब को लेकर संघर्ष के बारें में कहा कि ‘आख़री साँस तक लड़ती रहूंगी जब तक इस मामले में शामिल हर किसी आरोपी को सज़ा नहीं मिल जाती’

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?