Tuesday, November 30, 2021

विवादित ट्वीट मामले में अब बार काउंसिल ने दिये प्रशांत भूषण के खिलाफ जांच के आदेश

- Advertisement -

विवादित ट्वीट मामले में सुप्रीम कोर्ट के बाद अब वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण को अब बार काउंसिल ऑफ इंडिया (BCI) की कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। दरअसल बार काउंसिल ऑफ इंडिया (BCI) ने भी इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। बीसीआई ने कहा है कि प्रशांत के न्यायपालिका पर किए गए ट्वीट्स का गहन परीक्षण किया जाएगा।

माना जा रहा है कि अब प्रशांत भूषण का वकालत लाइसेंस रद्ध किया जा सकता है। बार काउंसल ऑफ इंडिया ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए दिल्ली बार काउंसिल से कहा है कि वे प्रशांत भूषण के ट्वीट्स की जांच करें और कानून के मुताबिक कार्रवाई करे। भूषण का दिल्ली बार काउंसिल में वकील के तौर पर नामांकन है।

बार काउंसिल ने कहा कि महापरिषद ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों- जस्टिस अरुण मिश्रा, जस्टिस बीआर गवई और जस्टिस कृष्ण मुरारी के उस फैसले पर चर्चा की, जिसमें भूषण को दोषी ठहराया गया और दरियादिली दिखाते हुए उन पर सांकेतिक जुर्माना लगाया गया।

काउंसिल की ओर से जारी बयान में कहा गया, “परिषद का विचार है कि श्री प्रशांत भूषण द्वारा जो ट्वीट और बयान दिए गए और सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में जो फैसला दिया, उसका गहन अध्ययन और परीक्षण जरूरी है।”  भूषण ने सोमवार को उच्चतम न्यायालय की रजिस्ट्री में अवमानना मामले में दंड के रूप में एक रुपया जमा करा दिया है।

न्यायमूर्ति अरूण मिश्रा (अब सेवानिवृत्त) की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने न्यायपालिका के प्रति अपमानजनक ट्वीट करने के कारण प्रशांत भूषण को 14 अगस्त को आपराधिक अवमानना का दोषी ठहराया था और 31 अगस्त को उन पर एक रुपए का सांकेतिक जुर्माना किया था।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles