म्यांमार से अपनी जान बचाकर भागने वाले रोहिंग्या मुसलमानों के शरणरार्थी कैंपों में महामारी का ख़तरा बढ़ता जा रहा है.

दरअसल, शरणार्थियों की भरमार और सुविधाओं के अभाव के चलते कैंपों में अव्यवस्था फैली हुई है. पीने के साफ पानी और शौचालयों की कमी के कारण यहाँ बीमारियां फैल रही हैं.

इस सबंध में एक रोहिंग्या मुसलमान परिवार ने बताया कि यहां पर पानी में बू आती है और लोग खुले में शौच कर रहे हैं जिसके कारण बीमारियां तेज़ी से फैल रही हैं. वहां पर काम करने वाले  डाक्टरों का कहना है कि रोहिंग्या शरणार्थियों के बीच डायरिया के मामलों में तेज़ी से बढ़ोत्तरी हुई है. उनका कहना है कि बारिश की वजह से स्थिति और ख़राब हो गई है.

ध्यान रहे म्यांमार से आने वाले रोहिंग्या शरणार्थियों की तादाद 5 लाख को पार कर चुकी है. ये सिलसिला अब जारी है. हालांकि अब तक रोहिंग्याओं की वापसी पर कोई ठोस फैसला नहीं हुआ.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हालांकि म्यांमार ने विभिन्न शर्तों के साथ रोहिंग्याओं की वापसी का आश्वासन दिया है. जिनमे से एक रोहिंग्या मुस्लिमों के वेरिफिकेशन की प्रक्रिया है.

Loading...