भारतीय मीडिया में ईद-उल-अजहा (13 सितंबर) पर बांग्लादेश से जुडी एक खबर बड़े पैमाने पर दिखाई गई. इस खबर में कुछ तस्वीरों के साथ दावा किया गया कि राजधानी ढाका में सड़कों पर कुर्बानी के कारण खून की नदियाँ बहने लगी.

इस खबर में अप्रत्यक्ष रूप से मुसलमानों को टार्गेट किया गया और ईद-उल-अजहा के त्यौहार को एक वीभत्स रूप में दिखाने की पूरी कोशिश की गई. खबरों में फ़ोटोशॉप पिक्चर के दम पर दावा किया गया कि ईद पर हुई बारिश के कारण कुर्बानी का खून सडको पर आ गया जिससे सड़कों पर खून की नदिया बहने लगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बड़े-बड़े मीडिया हाउस ने भी पत्रकारिकता के मूल्यों को ताक पर रखते हुए फ़ोटोशॉप पिक्चर का जमकर इस्तेमाल किया और मुसलमानों को नीचा दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

कोहराम न्यूज़ इन फोटो की सत्यता की कोई ज़िम्मेदारी नही लेता

Loading...