बजरंग दल द्वारा ट्रेनिंग कैंप लगाकर हिन्दू युवकों को हथियार चलाने की ट्रेनिंग देने के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गयी है गौरतलब है की अयोध्या में यह ट्रेनिंग कैंप 14 मई को हुआ था। इस मॉक ड्रिल में एक समुदाय के लोगों को वेशभूषा और नारों के जरिये आतंकी दिखाने की कोशिश की गई है। हालांकि बजरंग दल ने इसे सेल्फ डिफेंस बताया था।

हालाँकि विडियो देखने से सेल्फ डिफेन्स से अधिक ये मामला दो धर्मो के टकराव का दिखाया गया था जिसे देखकर तुरन्त हरकत में आई पुलिस ने इस मामले पर संज्ञान लेते हुए FIR दर्ज की है. वहीँ फैजाबाद के एसएसपी ने बताया कि मीडिया चैनलों में प्रसारित किया गया है कि बजरंग दल ने एक कार्यक्रम आयोजित किया, जिसमें दो समुदायों के बीच में टकराव दिखाया गया है। पुलिस इसे संज्ञान में लेकर मुकदमा दर्ज कर रही है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सपा नेता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि चुनाव नजदीक आज रहे हैं इसलिए बीजेपी और बजरंग दल सांप्रदायिक ध्रवीकरण करने की कोशिश कर रहे हैं। कानून के अनुसार कार्रवाई होगी, हम बदले की कार्रवाई नहीं करते। कांग्रेस के नेता मनीष तिवारी ने कहा कि जो लोग कानून अपने हाथ में लेते हैं उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। जेडीयू नेता शरद यादव ने कहा कि सुरक्षा के नाम पर हिंसा कर रहे हैं। इनको गिरफ्तार करना चाहिए। ये लोग वातावरण खराब करने का काम कर रहे हैं।

Bajrang Dal Organises Camp in Ayodhya FIR registered

Loading...