IAF ने मिसाइल से उड़ाया खुद का ही विमान, बडगाम क्रेश मामले जांच के आदेश

11:19 am Published by:-Hindi News

इस साल 27 फरवरी को पाकिस्तानी वायु सेना के साथ टकराव के दौरान बडगाम में भारतीय वायु सेना का एमआई-17 हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसमें 6 एयरमैन की मौत हो गई थी। इस हादसे को लेकर एक सच्चाई सामने आई है। दरअसल, बताया जा रहा है कि IAF की और से गलती से हुए सैन्य हमले में एमआई-17 हेलिकॉप्टर निशाना बन गया था।

इस मामले में जांच 20 दिनों में पूरी होगी। सबूतों की पूरी सारणी इसके तुरंत बाद पेश की जाएगी और हेलिकॉप्टर में 6 जवान और जमीन पर एक नागरिक की मौत के लिए जिम्मेदार लोगों पर वायु सेना अधिनियम 1950 के सैन्य कानून के तहत गैर इरादतन हत्या का मामला चलाया जा सकता है।

भारतीय वायुसेना के सूत्रों ने एनडीटीवी को बताया, ’27 फरवरी को श्रीनगर हवाई अड्डे से एक इजरायल निर्मित स्पाइडर और सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल के प्रक्षेपण के परिणाम पर कोई संदेह नहीं था। जांच में समय इसलिए लगा है क्योंकि भारतीय वायुसेना को इस घटना के लिए दोषी ठहराया गया है।’

symbolic image

भारतीय वायुसेना के सूत्र ने एनडीटीवी को बताया, ‘पूरी घटना 12 सेकेंड के अंदर हुई, Mi हेलिकॉप्टर को इस बात की जानकारी नहीं थी कि वह हमले के दायरे में है।’ IAF का कहना है मामले में कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी जारी है, लैब के टेस्ट रिजल्ट आने बाकी हैं और जब तक मामले में अंतिम नतीजा निकलता इस बारे में कोई कमेंट नहीं किया जा सकता।

हालांकि सीनियर वायुसेना के अधिकारी ने उन रिपोर्ट को खारिज किया है जिसमें कहा गया है कि कोर्ट ऑफ इनक्वारी Mi17 को गिराने के एक वीडियो पर विचार कर रही है। अधिकारी का कहना है, ‘ऐसा कोई रास्ता नहीं है कि कोई कैमरा वहां इस रेंज तक प्रभाव डालने के लिए मौजूद था।’

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें