sdpi44

सोशल डेमोक्रैटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) ने बाबरी मस्जिद की शहादत की 26वी बरसी पर दिल्ली में संसद मार्ग पर धरना दिया। जिसमे हजारों की तादाद में लोगों ने हिस्सा लिया। इस दौरान पूरे धरने में ‘फिर बनेगी बाबरी मस्जिद, फिर बनेगा हिंदुस्तान’ का नारा गूंज रहा था।

SDPI के राष्ट्रीय अध्यक्ष एम के फैजी ने एबीपी न्यूज़ से बातचीत में कहा कि हम ये धरना जागरूकता के लिए कर रहे हैं। ये मामला हिन्दू मुस्लिम का नही है। ये मामला संविधान और धर्मनिरपेक्षता का मसला है। फैजी ने कहा, ”सुप्रीम कोर्ट का जो फैसला होगा हम मानने के लिए तैयार है लेकिन हमारी मांग है बाबरी मस्जिद की दोबारा तामीर किया जाए।

SDPI के इस धरने को मुस्लिमो की राजनीति करने वाले MIM, PFI, वेलफेयर पार्टी ऑफ इंडिया जैसे दलों का भी समर्थन है। बता दें कि 6 दिसंबर 1992 को हिंदुवादियों ने यूपी के अयोध्या में स्थित एतिहासिक बाबरी मस्जिद को शहीद कर दिया था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इससे पहले एसडीपीआई के नेशनल सेक्रेटरी तस्लीम रहमानी ने पीएम मोदी पर नशाना साधते हुए कहा कि पीएम राजधर्म का पालन नहीं कर रहे हैं, वो आरएसएस के प्रचारक की तरह बयान दे रहे हैं।  रहमानी यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद पर हमारा दावा हमेशा रहेगा, क्योंकि पूर्व पीएम नरसिम्हा राव ने बाबरी मस्जिद को बनाने का वादा किया था। उन्होंने कहा कि वो 25 लाख लोग अयोध्या में इकट्ठा कर सकते हैं, लेकिन कानून इसकी इजाजत नहीं देता।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एसडीपीआई के जनरल सेक्रेटरी अब्दुल मजीद ने मांग की कि अयोध्या में रखी गई मूर्तियों को तब तक हटाया जाए, जब तक ये मामला अदालत में चल रहा है।

Loading...