बाबरी मस्जिद की शहादत सुनियोजित थी. इस बात का खुलासा राष्ट्रवादी शिव सेना पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बाबरी मस्जिद की शहादत के आरोपी भगवान गोयल ने किया हैं.

उन्होंने कहा कि “अयोध्या में उस दिन जो भी किया, सोच समझकर किया, दिल से किया और खुशी से किया.” उन्होंने कहा कि यह कारसेवकों की हत्या का बदला था. जिनकी हत्या तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने कराई थी.

गोयल ने बताया, बाबरी मस्जिद को गिराने के लिए हमलोग पूरी तैयारी के साथ और डायनामाइट लेकर गए थे. उन्होए कहा शिव सेना के स्थानीय विधायक पवन पांडेय ने हम लोगों को गैचा, गैंतिया, हथौड़े, सीढ़ी, लाठी डंडे आदि मुहैया कराए थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा कि शिव सेना ने दिल्ली में हुई बैठक में पहले ही तय किया था कि इस बार 6 दिसंबर को होने वाली कार सेवा में ढांचा बचना नहीं दिया जायेगा.  गोयल ने कहा कि जब हमलोगों ने बाला साहेब ठाकरे को शिव सेना की दिल्ली बैठक में लिए गए फैसले के बारे में बताया तो वो खुश हो गए थे और उन्होंने भी कहा था कि ढांचा बचना नहीं चाहिए.

गोयल ने कहा कि साल 2019 तक अयोध्या में भव्य राम मंदिर नहीं बना तो मोदी और योगी दोनों को जनता हटा देगी. उन्होंने कहा कि अयोध्या में मंदिर बने इसकी जिम्मेदारी केन्द्र की मोदी सरकार और राज्य की योगी सरकार की है.

Loading...