Sunday, January 16, 2022

बाबरी मस्जिद केस के बुज़ुर्ग मुद्दई हाशिम अंसारी का हुआ निधन

- Advertisement -

बाबरी मस्जिद केस में मुस्लिम समुदाय की ओर से प्रमुख पक्षकार हाशिम अंसारी का 96 साल की उम्र में निधन हो गया हैं.

उनके बेटे इक़बाल अंसारी ने पत्रकार समीरात्मज मिश्र को बताया कि बुधवार सुबह वो नमाज़ के लिए नहीं उठे थे, तो परिवारवालों ने पाया की उनकी मृत्यु हो चुकी है. वह छाती में दर्द और सांस में दिक्कत को लेकर परेशान चल रहे थे. अंसारी बाबरी मस्जिद के सबसे पुराने पैरोकारों में से थे। वह 1959 से बाबरी मस्जिद का केस लड़ रहे थे.

साठ साल से ज़्यादा समय तक बाबरी मस्जिद की क़ानूनी लड़ाई लड़ने वाले हाशिम अंसारी के स्थानीय हिंदू साधु-संतों से रिश्ते कभी ख़राब नहीं हुए.

वर्ष 2010 में बीबीसी से बातचीत में हाशिम अंसारी ने कहा था, “मैं सन 1949 से मुक़दमे की पैरवी कर रहा हूँ, लेकिन आज तक किसी हिंदू ने हमको एक लफ़्ज़ ग़लत नहीं कहा. हमारा उनसे भाईचारा है. वो हमको दावत देते हैं. मै उनके यहाँ सपरिवार दावत खाने जाता हूँ.”

विवादित स्थल के दूसरे प्रमुख दावेदारों में निर्मोही अखाड़ा के राम केवल दास और दिगंबर अखाड़ा के राम चंद्र परमहंस से हाशिम की अंत तक गहरी दोस्ती रही. परमहंस और हाशिम तो अक्सर एक ही रिक्शे या कार में बैठकर मुक़दमे की पैरवी के लिए अदालत जाते थे और साथ ही चाय-नाश्ता करते थे.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles