हरिद्वार | योग गुरु और बिज़नसमैन बाबा रामदेव अक्सर अपने राजनितिक बयानों को लेकर चर्चा में रहते है. चाहे रामलीला मैदान में कांग्रेस के खिलाफ अनशन हो या 2014 के लोकसभा चुनावो में नरेन्द्र मोदी का समर्थन. रामदेव लगभग सभी मामलो में अपनी उपस्तिथि जरुर दर्ज कराते है. चूँकि आज उत्तराखंड में विधानसभा चुनावो के लिए मतदान हो रहा है इसलिए उनका समर्थन किसी भी दल के लिए अहम् साबित हो सकता है.

वोट डालने के बाद जब बाबा रामदेव से इस मामले में बात की गयी तो उन्होंने कहा की इस बार के चुनाव में तूफ़ान आने वाला है. इस बार बड़े बड़े सुरमा सबक सीखने वाले है. चूँकि लोकतंत्र में मतदान एक अहम् किरदार निभाता है और यह हमारा अधिकार भी है इसलिए मैं सभी लोगो से अपील करता हूँ की राज्य और देश के राजनितिक भविष्य के लिए मतदान जरुर करे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रामदेव ने कहा की जब जनता को वोट डालने का अधिकार है तो उन्हें वोट डालना चाहिए. लेकिन कभी कभी हम ऐसा सोचते है की सभी उम्मीदवार तो बईमान है इसलिए किसी को भी वोट नही देते. ऐसे लोगो को मैं कहना चाहूँगा की अगर आपको सभी लोग बईमान लगते है तो आप उस उम्मीदवार को वोट दे जो कम बईमान हो लेकीन वोट जरुर दे.

रामदेव ने ऐसी स्थिति में NOTA के उपयोग नही करने की सलाह देते हुए कहा की अगर आपको लगता है की सभी उम्मीदवार काबिल नही है तो भी NOTA का इस्तेमाल नही करना चाहिए. क्योकि इससे आपका वोट ख़राब होता है. NOTA से न तो कोई राजनितिक बदलाव आता है और न की कोई फायदा होता है. इसलिए देश में बदलाव के लिए वोट करना जरुरी है. रामदेव ने अपने आप को निष्पक्ष बताते हुए कहा की मैंने हमेशा निष्पक्ष होकर वोट दिया है.

Loading...