अयोध्या विवाद एक बार फिर से राजनीतिक हलकों में चर्चा का विषय बना हुआ है. जिसके साथ ही सीक्रेट मुलाकातों का दौर शुरू हो गया है.

मंगलवार को इस मुद्दे पर अजमेर स्थित हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती (रह.) की दरगाह के दीवान सैयद जैनुल आबेदीन के नेतृत्व में 12 सूफी मौलानाओं ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाक़ात की. ये मुलाकात अकबर रोड स्थित सिंह के आवास पर हुई.

हालांकि दरगाह दीवान की और से इस मुलाकात को खारिज किया गया है. उन्होंने कहा, जिस व्यक्ति ने अजमेर दरगाह प्रमुख बनकर राजनाथ से मुलाकात की वह कोई बहरूपिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरगाह प्रमुख के बेटे सैयद नसीरुद्दीन चिश्ती का कहना है, ‘अजमेर शरीफ दरगाह में करीब 4000 खादिम हैं. जो व्यक्ति श्री श्री रविशंकर के साथ घूम रहा है वह खुद को दरगाह का प्रमुख बता रहा है. यहां तक कि उसने मेरे पिता की तरह कपड़े भी पहन रखे हैं.

ये मुलाकात ऐसे वक्त में हुई जब जब आर्ट ऑफ़ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर इस मुद्दे के बातचीत से हल का हवाला देते हुए दोंनों पक्षों  से मिलकर बीच का रास्ता निकालने का दावा कर रहे है.

Loading...