umar123

सोमवार को संसद के करीब कंस्टीट्यूशन क्लब के बाहर जेएनयू के छात्र उमर खालिद पर हुए जानलेवा हमले को लेकर दो युवकों ने एक वॉट्सऐप वीडियो जारी हमले की जिम्मेदारी ली है। दोनों युवकों का कहना है कि वे खालिद पर हमला करके स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लोगों को आजादी का तोहफा देना चाहते थे।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबकि, वॉट्सऐप पर शेयर हो रहे चार मिनट के इस वीडियो में इन दोनों युवकों ने अपने नाम सर्वेश शाहपुर और नवीन दलाल बताया है। इस वीडियो में एक शख्स ने हाथ में तिरंगा झंडा ले रखा है। वीडियो में दोनों का कहना है कि वो खालिद पर हमला कर 15 अगस्त के मौके पर लोगों को गिफ्ट देना चाहते हैं।

शाहपुर और दलाल ने कहा है कि हमले की जिम्मेदारी उनकी है और उन्होंने पुलिस से ये भी कहा है कि वो हमले की जांच में दूसरों को परेशान न करें। कथित हमलावरों ने कहा है कि वे 17 अगस्त को सिख क्रांतिकारी करतार सिंह सराभा के घर के सामने सरेंडर करेंगे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

शाहपुर ने विडियो में कहा, ‘हम हमारे संविधान का सम्मान करते हैं लेकिन हमारे संविधान में पागल कुत्ते को दंडित करने का कोई प्रावधान नहीं है। पागल कुत्ते से हमारा मतलब जेएनयू गैंग से है जो कि देश को कमजोर बना रहे हैं और उनकी संख्या बढ़ रही है। हरियाणा में हमारे बड़े-बुजुर्गों ने हमे सिखाया है कि ऐसे लोगों को सबक सिखाया जाना चाहिए।’

पुलिस को शक है कि ये वीडियो पंजाब या हरियाणा में कहीं रिकॉर्ड किया गया है। पुलिस विडियो की सत्यता की जांच कर रही है और आईपी अड्रेस को ट्रेस कर रही है।
Loading...