atss

महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने मुंबई के निकट नालासोपारा से भारी मात्रा में विस्फोटक की बरामदगी के बाद अब अवैध हथियारों का जखीरा बरामद किया है।

एक अधिकारी ने कहा कि एटीएस ने कल गिरफ्तार वैभव राउत, शरद कालास्कर और सुधन्वा गोंधालेकर से कथित रूप से संबंधित कम से कम 16 लोगों से पूछताछ की। जिसके बाद पुणे में आज गोंधालेकर द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूचना के आधार पर छापेमारी की गयी।

उन्होंने कहा कि छापेमारी में मैगजीन के साथ 11 देसी तमंचे, एक एयरगन, पिस्तौल की दस नली, छह पिस्तौल मैगजीन, आंशिक रूप से बनी छह पिस्तौल, आंशिक रूप से बनी तीन मैगजीन और हथियार के कई भाग जब्त किये गये। इसके अलावा, बम बनाने की सामग्री, वाहनों की छह नंबर प्लेट, सीडी, पेन ड्राइव, हार्डडिस्क और हैंडबुक और बम बनाने से जुड़े अन्य साहित्य भी बरामद किये गये।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

cru

उन्होंने कहा कि हथियारों की बरामदगी के साथ, एटीएस ने राउत तथा दो अन्य के खिलाफ गैरकानूनी क्रियाकलाप रोकथाम कानून तथा विस्फोटक सामग्री के तहत दर्ज प्राथमिकी में शस्त्र अधिनियम की धाराएं भी जोड़ी गयी है।

बता दें कि इससे पहले नालासोपारा में एटीएस ने वैभव राउत के आवास और दुकान पर छापेमारी कर  20 देसी बम और बम सर्किट ड्रॉविंग समेत भारी मात्रा में विस्फोटक जब्त किए थे। वैभव राउत सनातन संस्था का पदाधिकारी है। एटीएस का दावा है कि ईद उल अज़हा पर धार्मिक स्थलों पर हमला करने के लिए ये बम बनाए गए थे।