saty

जून में भाजपा-पीडीपी गठबंधन सरकार गिरने के बाद सरकार के गठन को लेकर पैदा हुए संवेधानिक संकट को लेकर जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राज्य में जल्द विधानसभा के चुनाव कराने का समर्थन किया है।

पीटीआई के साथ इंटरव्यू में जब उनसे जब पूछा गया कि क्या मौजूदा सदन में से किसी लोकप्रिय सरकार का गठन हो सकता है, तो उन्होंने कहा,‘‘मुझे ऐसा नहीं लगता। कम से कम, मैं किसी भी ‘‘धांधली’’ का हिस्सा नहीं बनूंगा। मुझे प्रधानमंत्री या किसी अन्य केंद्रीय नेता द्वारा ऐसा कोई संकेत नहीं दिया गया है।’’

विधानसभा के ताजा चुनाव कराये जाने के संबंध में पूछे गये एक सवाल के जवाब में मलिक ने कहा कि उनकी इच्छा है कि चुनाव जल्द से जल्द होने चाहिए। मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल दिसम्बर 2020 में समाप्त होना है। उन्होंने कहा,‘‘निर्णय केन्द्र और चुनाव आयोग द्वारा लिया जायेगा। मेरा काम दोहरी जिम्‍मेदारी (राज्यपाल और प्रशासक की) को निर्वहन करना है जिसे मैं निभाता रहूंगा। मेरी इच्छा है कि चुनाव जल्द से जल्द कराये जाये।’’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

electon

उन्होंने कहा,‘‘हम उच्चतम न्यायालय को सूचित करेंगे कि हम एक निर्वाचित सरकार नहीं हैं और उनसे अनुरोध करेंगे कि निर्वाचित सरकार बनने तक इस मामले की सुनवाई को टाल दिया जाये।’’

बता दें कि अनुच्छेद 35ए को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दिए जाने के विरोध में राज्य की दो प्रमुख पार्टियों नेकां और पीडीपी ने स्थानीय निकाय चुनाव का बहिष्कार किया था। जिसका व्यापाक असर भी देखने को मिला है।

Loading...