Friday, October 22, 2021

 

 

 

असम चुनाव : मोदी ने कहा – कभी असम की चाय बेचता था, अब कर्ज चुकाने का एक मौका दें

- Advertisement -
- Advertisement -

तिनसुकिया : नरेंद्र मोदी आज से दो दिन के असम दौरे पर हैं, इस दौरान वे चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे. पहली रैली को मोदी ने तुनसुकिया में संबोधित किया. मोदी ने कहा कि असम के विकास का समय आ गया है. 60 साल कांग्रेस को मौका दिया केवल पांच साल भाजपा को मौका दिजीए. वहीं भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह भी असम में चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे. पीएम मोदी आज माजुली, बिहपुरिया, बोकाखाट, और जोरहाट में भी चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि 4 और 11 अप्रैल को यहां के लोग कमल के निशान पर बटन दबाकर भारी मतों से हमें विजयी बनायेंगे. उन्होंने कहा कि हमारे सहयोगियों को भी जीताकर असम के विकास में योगदान दें. मोदी ने कहा कि यहां की सरकार दिल्ली से मिली पैसों का एक चौथाई रकम भी खर्च नहीं कर पाई. पैसे बैंकों में पड़े सड़ रहे हैं. यही हाल रहा तो असम का विकास नहीं हो सकता. सरकार से हिसाब लेने का समय आ गया है. अपने वोट से हिसाब चुकाने का समय आ गया है. मोदी ने कहा, ‘हमारा तीन एजेंडा है, पहला एजेंडा है विकास, दूसरा एजेंडा है तेजी से विकास और तीसरा एजेंडा है चारो ओर विकास. उन्होंने कहा यहां गरीबों को पढ़ाई, नौजवानों को कमाई और बुजुर्गों को दवाई मुहैया कराना हमारा उद्देश्य है.

मोदी ने कहा कि सरकारी विज्ञापनों में चाय बागान में काम करने वालों की चेहरों पर मुस्कान दिखती है, लेकिन सचाई कुछ और ही है. यहां की चाय देशभर के लोगों में ऊर्जा भरती है. मैं भी कभी चाय बेचता था, इसलिए असम से मेरा विशेष नाता है. मुझे एक मौका दे कि मैं आपका कर्ज चुका सकूं. मोदी ने कहा, असम के एक हजार गांवों में बिजली पहुंचा दी गयी है, जहां एक बिजली का खंभा भी नहीं था. आपके कंधे से कंधा मिलाकर असम के भलाई के लिए कुछ करना चाहता हूं. असम का एक ही आनंद है और वह है सर्वानंद

नरेंद्र मोदी ने कहा,  गांव-गांव में बिजली पहुंचायी जायेगी. प्रदेश से गरीबी को दूर किया जायेगा. अभी तक लाखों गांव देश में ऐसे हैं जहां बिजली का खंभा भी नहीं है. मोदी ने कहा, कई सालों बाद इस राज्य को एक युवा मुख्‍यमंत्री मिलने वाला है. वह दिन दूर नहीं जब बच्चों को पढाया जायेगा ए फॉर असम. मोदी ने कहा, ‘आजादी के बाद पांच सबसे अमीर राज्यों में एक राज्य था असम. वहीं आज 60 सालों बाद पांच सबसे गरीब राज्यों में असम शामिल है. कांग्रेस ने इस राज्य को ऐसा बना दिया. मुझे केवल पांच साल मौका दिजीए, 60 साल के इतिहास को बदल देंगे.

मोदी ने कहा, गोगोई साहब तो इतने बुजुर्ग हैं कि उनसे हमारी कोई लड़ाई नहीं है. हमारी लड़ाई गरीबी, बुराइयों, भ्रष्टाचार और असम की बर्बादी के खिलाफ है. किसी से व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है. असम में एक ही लहर चल रही है, वह है सर्वानंद. मोदी ने कहा, असम के विकास के लिए केंद्र अपने एक गुणी मंत्री को छोड़ने के लिए तैयार है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी असम के तिनसुकिया में चुनावी रैली को संबोधित कर रहे हैं. मोदी ने कहा यहां के जन जन को दुखिया से सुखिया बनाना है.

कल मोदी असम के रंगपारा और करीमगंज में चुनावी रैलियों को संबोधित कर दिल्ली के लिए वापस रवाना हो जाएंगे. असम में 2 चरणों में चुनाव के लिए 4 और 11 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. 19 मई को वोटों की गिनती होगी. कल अरुण जेटली ने भाजपा का विजन डॉक्यूमेंट जारी किया. जेटली ने कहा कि असम को घुसपैठ से मुक्ति दिलायेंगे. गोगोई सरकार पूरी तरह असफल सरकार रही है, इसे उखाड़ फेंकने का यही सही समय है.

जेटली ने कहा कि हमें भरोसा है कि हम ना सिर्फ चुनाव में जीत दर्ज करेंगे, बल्कि भारी जीत दर्ज करेंगे. उल्लेखनीय है कि अगर असम में भाजपा की सरकार बनती है तो यह पहला मौका होगा जब भाजपा प्रदेश में सत्ता में आयेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles