vijay shekhar sharma 620x400

पेटीएम कंपनी के मालिक को ब्लैकमेल कर 20 करोड़ रुपये मांगने के तीन आरोपियों को नोएडा के थाना सेक्टर-20 की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों में कंपनी की महिला वाइस प्रसिडेंट, उसका पति और एक अन्य कर्मचारी शामिल है।

नोएडा के एसएसपी अजय पाल शर्मा के मुताबिक विजय शर्मा ने उनसे शिकायत की थी कि कोई उन्हें ब्लैकमेल कर रहा है। विजय शर्मा ने बताया कि 20 सितंबर को जब वे जापान में थे, उसी समय उनके पास थाइलैंड के एक नंबर से ब्लैकमेलर का कॉल आया। उसने दावा किया कि विजय शर्मा के निजी डाटा उसके पास हैं। इसके एवज में ब्लैकमेलर ने 20 करोड़ की मांग की। साथ कहा कि अगर उसे पैसे नहीं दिए गए तो वे पर्सनल डाटा सार्वजनिक कर देगा, जिससे विजय शेखर की इमेज खराब हो जाएगी।

ब्लैकमेलर ने कहा कि उसके पास ये डाटा कंपनी के ही एडमिन डिपार्टमेंट में काम करने वाले राहुल और देवेंद्र से मिली है। इन दोनों कर्मचारियों को विजय शर्मा के पर्सनल डाटा कंपनी में सेक्रेटरी सोनिया से मिली है। ब्लैकमेलर ने ये भी बताया कि उगाही की रकम का 10 प्रतिशत राहुल और देवेंद्र को दिया जाएगा।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कंपनी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट और विजय शर्मा के भाई अजय शर्मा ने बताया कि ब्लैकमेलर को यकीन दिलाने के लिए उन्होंने उनके बताए खाते में दो लाख रुपये ट्रांसफर भी कर दिए, ताकि उन्हें सबूतों के साथ रंगे हाथ पकड़ा जा सके। शर्मा ने कहा कि, “मामले की गंभीरता को देखते हुए इसकी जांच के लिए थाना सेक्टर 20 के प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार पंत के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई। आज पुलिस टीम ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।”

 उन्होंने बताया कि, “गिरफ्तार तीनों आरोपियों के पास से चोरी किया गया महत्वपूर्ण डाटा बरामद हुआ है। तीनों आरोपियों को अदालत में पेश किया गया। पुलिस इनकी कस्टडी रिमांड लेने का प्रयास कर रही है।” पुलिस ने बताया कि आरोपी सोनिया की उम्र करीब 30 साल है और वह पिछले 10 वर्षों से पेटीएम में काम कर रही है। देवेंद्र भी करीब सात वर्षों से पेटीएम में काम कर रहा है।

Loading...