auran

भारतीय सेना में राइफलमैन रहे औरंगजेब का आतंकियों द्वारा अपहरण और हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। दरअसल आतंकियों ने शहीद औरंगजेब की हत्या एक लड़की की वजह से की थी।

बता दें कि 14 जून को ईद की छुट्टियों में घर जा रहे औरंगजेब की आतंकियों ने अपहरण के बाद हत्या कर दी थी। उनका शव गोलियों से छलनी तथा चेहरा क्षत विक्षत हालत में मिला था।

सेना के एक अधिकारी के मुताबिक वह एक महिला के संपर्क में आया था और दोनों एक दूसरे के संपर्क में कुछ समय से थे। आतंकियों को पता चला कि पुंछ जाने के लिए आर्मी कैंप छोड़ने के बाद राइफलमैन लड़की से मिलने आएगा। जब औरंगजेब लड़की से मिलने आया तो आतंकियों ने उसे पकड़ लिया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

aurangzeb 3 news 1528972055 618x347

इस घटना के बाद सेना अब जवानों के लिए एहतियातन दिशा-निर्देश जारी कर रही है। जिसमें स्थानीय लड़कियों और महिलाओं से दोस्ती न करने की हिदायत दी जा रही। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि बाहर निकलते समय नियम-कायदों का उल्लंघन बिल्कुल न करें।

अफसर के मुताबिक औरंगजेब के लिए बनीहाल पार करने के बाद ही प्राइवेट कार से यात्रा सुरक्षित होती। चूंकि उसे एक लड़की से मिलना था, इस नाते प्राइवेट कार से जाने का फैसला किया। यही मौत का कारण भी बना।

बता दें कि कश्मीर में तैनात सैन्यकर्मियों और अधिकारियों के लिए एक निर्धारित स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) है। इसका पालन करना सभी के लिए अनिवार्य है।जिसमे जवानों को प्राइवेट कार में यात्रा करने की मनाही है। घाटी पार करते समय उन्हें बुलेट प्रूफ गाड़ियां उपलब्ध कराई जाती हैं।

Loading...