index copy

index copy

नयी दिल्ली – जम्मू-कश्मीर के सुंजवान में आतंकी हमले में शहीद हुए सेना के जवानों को लेकर ओवैसी के बयान पर पलटवार करते हुए सेना ने बड़ा जवाब दिया है. आपको बताते चले की इस आतंकी कार्यवाई में 7 जवानों को शहादत का चोला पहनना पड़ा है जिसमे से 5 मुस्लिम समुदाय से सम्बंधित है.

aimim प्रमुख तथा हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था की सुंजवान में शहीद होने वाले पांच जवान कश्मीरी मुसलमान थे. जिसके बाद से लगातार उनके इस बयान की आलोचना होने लगी थी. जिसके बाद सेना को इस बाबत जवाब देना पड़ा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सेना की उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबू ने ओवैसी का नाम लिए बगैर कहा, ‘हम शहादत को सांप्रदायिक रंग नहीं देते।’ उन्होंने दो टूक कहा कि जो लोग सेना की कार्यशैली नहीं जानते, वे ही इस तरह का बयान देते हैं।

लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबू ने यह भी कहा की आजकल हो रही इन आतंकी घटनाओं में सोशल मीडिया का काफी अहम् रोल है, इसके कारण युवा एक बड़े पैमाने पर इस तरह की घटनाओं में संलिप्त हो रहे हैं तथा इस पर व्यापक ध्यान देने की ज़रूरत है.

जहाँ एक तरफ हमारी सेना आतंकी संगठनों से कारवाई में अपने जवान गंवा रही है वहीँ देश में सेना को लेकर राजनीती खेली जा रही है ओवैसी के बयान स एफ्ले संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भी सेना को निशाने पर लेते हुए कहा था की सेना को तैयार होने में तीन-चार महीने लगा जायेंगे लेकिन स्वंसेवक तीन दिन में तैयार हो जायेंगे.

Loading...