Thursday, August 5, 2021

 

 

 

सियाचिन में ठंड से जवान की मौत, CAG रिपोर्ट में खुलासा – जवानों के पास जरूरत के कपड़े तक नहीं

- Advertisement -
- Advertisement -

सियाचिन में ठंड से जवान की मौत का सामने आया है। उत्तराखंड निवासी जवान रमेश बहुगुणा सियाचिन सेक्टर में तैनात थे। वह बहुगुणा महार रेजिमेंट के जवान थे। जवान के परिवार का कहना है कि भयंकर ठंड और ऑक्जिसन की कमी के चलते रमेश बीमार हुए थे। जिसके बाद इलाज के दौरान चंडीगढ़ के अस्पताल में उनकी मौत हो गई।

जवान के भाई दिनेश दत्त बहुगुणा ने बताया कि सियाचिन में भयंकर ठंड से उनके भाई की तबीयत बिगड़ गई थी। जवान का अंतिम संस्कार ऋषिकेश में पूर्णानंद घाट में हुआ था। 31 जनवरी को स्वास्थ्य संबंधी शिकायत होने पर बहुगुणा को चंडीगढ़ अस्पताल लाया गया था।

सियाचिन में जवान की मौत का मामला ऐसे समय में सामने आया है। जब महालेखा परीक्षक यानी सीएजी ने हाल ही में अपनी रिपोर्ट में सियाचिन, लद्दाख और डोकलम में मौजूद सैनिकों को पौष्टिक भोजन की कमी, बर्फ़ पर चमकती तेज़ धूप से बचने के लिए लगाए जाने वाले ख़ास चश्मे और जूते तक न मिल पाने का दावा किया।

CAG ने खामियों की ओर इशारा करते हुए कहा है कि जवानों को चार सालों तक बर्फीले स्थानों पर पहने जाने वाले कपड़ों और दूसरे सामानों की तंगी झेलनी पड़ी है। कैग की ये रिपोर्ट सोमवार को संसद में पेश की गई।

कैग ने बताया कि मार्च 2019 में रक्षा मंत्रालय की ओर से दिए गए जवाब में कहा गया है कि बजट की तंगी और आर्मी की जरूरतों में बढ़ोतरी की वजह से जवानों को ये किल्लत हुई।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2017 में बर्फीले इलाकों में इस्तेमाल होने वाले कपड़ों और सामान की मांग बढ़कर 64,131 हो गई। इस वजह से सेना मुख्यालय में इन सामानों की कमी हो गई। हालांकि रक्षा मंत्रालय ने कहा कि धीरे-धीरे इन कमियों को पूरा कर लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles