गुजरात के अहमदाबाद में ससुरालवालों की ओर से दहेज की प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या करने वाली आयशा के केस में उसके पति आरिफ खान ने पुलिस के सामने स्वीकार किया कि उसने ही आयशा को सुसाइड करने और उसका वीडियो बनाकर भेजने के लिए कहा था।

मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आरिफ ने अपने मोबाइल से आयशा के साथ की गई सारी वॉट्सऐप चैट डिलीट कर दी थी। हालांकि, आयशा के मोबाइल में सारी चैट्स मौजूद थीं। अधिकारियों ने आरिफ को आयशा के मोबाइल में मिली चैट दिखाई तो आरिफ समझ गया कि वह फंसने वाला है। उसने यह भी कबूल कर लिया कि आयशा के सुसाइड का वीडियो वायरल होने के बाद उसने चैट डिलीट की थी।

आयशा के अबॉर्शन पर आरिफ का कहना है कि वह आयशा के प्रेग्नेंट होने से खुश था और बच्चे को पालना चाहता था। बदकिस्मती से आयशा का अबॉर्शन हो गया। इसका उसे बहुत अफसोस था।

पुलिस के मुताबिक, उसने कहा कि वह आयशा और उनके बच्चे को अपनाना चाहता था। आयशा और आरिफ की बातचीत की क्लिप पुलिस ने सुनी है। इससे पता चला कि आयशा वापस आरिफ के पास जाना चाहती थी, लेकिन मामला दर्ज होने के कारण आरिफ उसे नहीं अपना रहा था।

दूसरी और आरिफ के ससुर यानी कि आयशा के पिता ने मांग की है कि, आरिफ पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। आयशा के पिता लियाकत अली ने कहा, “मेरी आयशा कभी वापस नहीं आएगी, लेकिन उसके गुनहगार को सजा मिलनी चाहिए, ताकि किसी और की बेटी के साथ ऐसा न हो। मेरी बेटी को बहुत प्रताड़ित किया जाता था।”