पाकिस्तान के लाहोर में दाता दरबार में हाजिरी देने के बाद लापता हुए दिल्ली की हजरत निजामुद्दीन दरगाह के सज्जादानशीन के बारें में जानकारी मिल गई हैं. वे अब कराची में हैं. पाकिस्तान विदेश कार्यालय ने इसकी पुष्टि की है.

दरगाह के मुख्य खादिम सैयद आसिफ़ अली निज़ामी और उनके भतीजे नाज़िम निजामी के लापता होने के बाद विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान की सरकार से दोनों भारतीय नागरिकों के बारे में जानकारी मांगी थी. जिसके बाद खुलासा हुआ था कि दोनों पाकिस्तान की खुफिया एजंसी की हिरासत में थे.

आईएसआई ने दोनों को अल्ताफ हुसैन की पार्टी एमक्यूएम के साथ कथित संबंधों के लिए हिरासत में लिया था. साथ ही जांच के लिए उन्हें एक अज्ञात स्थान पर ले गए थे. दोनों को 14 मार्च को लाहौर के अल्लामा इकबाल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से कराची जा रही शाहीन एयरलाइंस की उड़ान से उतारा गया था.

आसिफ निजामी 80 साल के हैं और वह हजरत निजामुद्दीन औलिया दरगाह के सज्जादानशीं हैं. वह अपनी बहन से मिलने 8 मार्च को अपने भतीजे नाजिम अली निजामी के साथ पाकिस्तान गए थे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?