शबे बरात को लेकर सुन्नी बरेलवी मसलक के मरकज दरगाह आला हजरत ने देश के मुसलमानों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना वायरस को देखते हुए देश में लॉक डाउन के बीच मुसलमान इस मुबारक रात में अपने अपने घरों में ही इबादत करें।

दरगाह आला हज़रत के सज्जादानशीन व तहरीक-ए-तहफ़्फ़ुज़-ए-सुन्नियत (टीटीएस) के सदर मुफ़्ती अहसन रज़ा क़ादरी “अहसन मियां” ने कहा कि शबे बारात का मतलब होता है छुटकारे की रात यानी गुनाहों से निजात की रात। मज़हब ए इस्लाम में इस रात की बड़ी अहमियत बयान की गई है । हदीस शरीफ में आया है कि 15 शब (रात) को कायाम (इबादत) करो और इसके दिन का रोज़ा रखो । ये रात बड़ी रहमत व बरकत वाली रात है।

दरगाह आला हजरत से जुड़े नासिर कुरैशी ने बताया कि सज्जादानशीन ने कहा कि शबे बारात का मतलब होता है, छुटकारे की रात। यानी गुनाहों से निजात की रात है। मज़हब ए इस्लाम में इस रात की बड़ी अहमियत बयान की गई है। हदीस में आया है कि 15 शब (रात) को कायाम (इबादत) करो और इसके दिन का रोज़ा रखो। ये रात बड़ी रहमत व बरकत वाली रात है।

नासिर कुरैशी ने बताया कि शुक्रवार को दरगाह आला हज़रत पर सज्जादानशीन ने नमाज़ ए जुमा बाद मुल्क भर के मुसलमानों से अपील करते हुए कहा कि पूरी दुनिया इस वक़्त कोरोना वायरस की वजह से मुश्किल दौर से गुजर रही है। हमारे मुल्क हिदुस्तान के अलावा दुनिया के कई मुल्कों में लॉक डाउन जारी है। इसका सब लोग सख्ती से पालन करें। लोग अपने घरों में रहे। 9 अप्रैल को मुल्क में शबे बारात का त्यौहार मनाया जाएगा। शबे बारात में नफिल इबादत की जाती है। इस दिन मुल्क भर के मुसलमान अपने-अपने घरों में रहकर इबादत करते है। रोजा रखते है।

शबे बारात को मुसलमान कब्रिस्तान जाकर अपने बुजुर्गों की कब्र पर फातिहा पढ़ने जाते है। मज़ारों पर हाज़िरी देते है। शबे कद्र की रात में लोग मस्जिदों में रात भर जाग कर अल्लाह की इबादत करते है। जगह जगह जलसे व महफ़िल ए मिलाद की महफ़िल सजती है। लॉक डाउन की वजह से न कब्रिस्तान जाएंगे और न मिलाद की महफ़िल सजेगी।

सादगी के साथ लोग घरों में इबादत करेंगे। सज्जादानशीन साथ ने साहिबे निसाब (शरई मुसलमानो) से अपील करते हुए कहा कि इस मुश्किल घड़ी में गरीबों, बेसहारों, बेवाओं और यतीम का खास ख्याल रखें। जितनी मदद हो सके लोगो की करे । किसी का पड़ोसी भूखा न सोने पाए।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन