पूर्व राष्ट्रपति और मिसाइल मैन के नाम से मशहूर एपीजे अब्दुल कलाम को आज देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी युवा उन्हें अपना प्रेरणा का एक बेहतरीन स्त्रोत मानते हैं. ऐसे में उनसे जुडी एक बहुत ही ख़ास जानकारी का खुलासा हुआ हैं.

बीते रविवार को कलाम के प्रेस सचिव एस एम खान ने कलाम के हिंदी गुरु के बारें में खुलासा किया हैं. अपनी किताब ‘द पीपल्स प्रेजिडेंट: एपीजे अब्दुल कलाम’ के रीडिंग सेशन के दौरान उन्होंने बताया कि वरिष्ठ नेता और यूपी के पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव ने कलाम को हिंदी सिखाई थी.

खान ने किताब के अंश को पढ़ते हुए बताया कि कलाम ने हिंदी सीखने के लिए मुलायम को गुरू बनाया था. खान ने किताब पढ़ते हुए बताया कि कलाम,16 फरवरी 2004 को मुलायम सिंद यादव के गांव सैफई आए हुए थे. इस दौरान उन्होंने 40 हजार लोगों को संबोधित किया. कलाम ने संबोधन से पहले बताया कि उन्हें जितनी भी हिंदी आती है वो मुलायम की वजह से ही आती है.

खान ने बताया कि कलाम की हिंदी और उर्दू अच्छी नहीं थी और मैं उनके भाषणों का हिंदी में अनुवाद करता था. मुलायम के रक्षा मंत्री होने के दौरान कलाम उनके वैज्ञानिक सलाहकार थे. उसी समय उन्होंने मुलायम से हिंदी सीखी थी. खान ने बताया, ‘2012 में एक सम्मेलन में कलाम ने यूपी को देश की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बताया था.’


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें