Saturday, September 25, 2021

 

 

 

जंतर मंतर पर मुस्लिम विरोधी नारे: दिल्ली पुलिस ने भाजपा के पूर्व प्रवक्ता को किया गिरफ्तार

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को यहां जंतर मंतर पर एक विरोध प्रदर्शन के दौरान कथित रूप से मुस्लिम विरोधी नारे लगाने के मामले में भाजपा के पूर्व प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस उपायुक्त (नई दिल्ली) दीपक यादव ने बताया कि आरोपियों की पहचान अश्विनी उपाध्याय, गौ सेवक प्रीत सिंह, दीपक सिंह, दीपक कुमार, विनोद शर्मा और विनीत बाजपेयी के रूप में हुई है। पुलिस ने कहा कि उन्हें दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों से गिरफ्तार किया गया और मंगलवार को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा।

बता दें कि जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन के दौरान मुस्लिम विरोधी नारे लगाते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से वायरल हुआ, जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने सोमवार को इस मामले में मामला दर्ज किया। यादव ने कहा, “बैंक ऑफ बड़ौदा के पास आयोजित एक कार्यक्रम में भड़काऊ नारेबाजी के संबंध में कनॉट प्लेस पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है।”

एक अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “उपाध्याय इस विरोध-प्रदर्शन के आयोजक थे। उन्हें विरोध प्रदर्शन करने की कोई अनुमति नहीं दी गई थी। जब एक सभा में एक गैरकानूनी गतिविधि होती है, तो ऐसी किसी भी सभा के आयोजक को अन्य लोगों के साथ जिम्मेदार ठहराया जाता है जो इसका हिस्सा थे।”

पुलिस ने धारा 188 (लोक सेवक द्वारा विधिवत आदेश की अवज्ञा), 153 ए (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना) और महामारी और आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 269 (लापरवाही से जीवन के लिए खतरनाक बीमारी का संक्रमण फैलने की संभावना) और 270 (घातक कार्य से जीवन के लिए खतरनाक बीमारी का संक्रमण फैलने की संभावना है) और महामारी और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया।

पुलिस के अनुसार, दो महिलाओं सहित पांच लोगों के एक समूह ने जामिया नगर पुलिस स्टेशन में उपाध्याय और अन्य के खिलाफ भड़काऊ नारेबाजी के संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी। बता दें कि भारत जोड़ो आंदोलन की ओर से रविवार को जंतर-मंतर पर आयोजित विरोध प्रदर्शन में सैकड़ों की संख्या में लोग शामिल हुए थे।

भारत जोड़ो आंदोलन की मीडिया प्रभारी शिप्रा श्रीवास्तव ने कहा था कि उपाध्याय के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन किया गया था। हालांकि, उन्होंने मुस्लिम विरोधी नारे लगाने वालों से किसी भी तरह के संबंध से इनकार किया। उपाध्याय ने भी मुस्लिम विरोधी नारेबाजी की घटना से खुद को दूर कर लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles