नई दिल्ली | दो साध्वियो के साथ बलात्कार करने के आरोप में दोषी ठहराए गए डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम फ़िलहाल रोहतक की सेंट्रल जेल में बंद है. उनको सीबीआई की विशेष अदालत ने 20 साल की सजा सुनाई है. सजा होने के बाद राम रहीम के अय्याशियों की पोल खुलनी शुरू हो गयी है. डेरा में काम करने वाले कई पूर्व लोग मीडिया के सामने आकर राम रहीम के किस्से उजागर कर रहे है. इतना सब होने के बावजूद बीजेपी सांसद साक्षी महाराज को इन सब में षड्यंत्र दिखाई देता है.

अब इस कड़ी में एक और बीजेपी सांसद का नाम जुड़ गया है. इन्होने कोर्ट की सजा पर ही सवाल उठाते हुए कहा की इस तरह एक महान संत को सजा देने से वो सहमत नही है. यही नही इन्होने आसाराम को भी महान संत बताते हुए कहा की उनके ऊपर लगे सभी आरोप बेबुनियाद है. उपरोक्त बयान बीजेपी सांसद पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल ने मंगलवार को एक कार्यक्रम के दौरान दिया. खबर है की उनके इस बयान से कार्यक्रम में आये बाकी बीजेपी कार्यकर्ता भी हैरान रह गये.

हिंदुस्तान में छपी खबर के अनुसार पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल मंगलवार को मौदहा के पाण्डव गेस्ट हाउस में आयोजित भारत मंथन कार्यक्रम में बोल रहे थे. पुष्पेन्द्र ने राम रहीम को मिली 20 साल की सजा पर बोलते हुए कहा की जिन संतो के लाखो करोडो भक्त हो उनको किसी व्यक्तिगत शिकायत के आधार पर इस कदर अपमानित नही करना चाहिए. यह कष्टप्रद है. ऐसे मामलो में यह भी ध्यान रखना चाहिए की अनुयायियो की आस्था को ठेस न पहुंचे. हालाँकि पुष्पेन्द्र ने कोर्ट के आदेश को सर्वोपरि बताया.

आसाराम पर बोलते हुए उन्होंने कहा की आसाराम पर लगे सभी आरोप बेबुनियाद है. इसके सबूत भी सामने आने शुरू हो गए है. बाद में सफाई देते हुए उन्होंने कहा की यह मेरी निजी राय है इसका पार्टी से कोई लेना देना नही है. बताते चले की बीजेपी सांसद साक्षी महाराज भी कुछ इसी तरह का बयान दे चुके है. उन्होंने कहा था की राम रहीम पर एक महिला ने यौन शोषण के आरोप लगाये हैं लेकिन उनके पीछे करोड़ों लोग खड़े हैं उनकी आवाज क्यों नहीं सुनी जा रही है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?