baba 1 1513843498 618x347

baba 1 1513843498 618x347

नई दिल्ली । दिल्ली के रोहिणी में चल रहे एक आश्रम के बारे में कई चौकाने वाले ख़ुलासे सामने आए है। पुलिस और महिला आयोग की टीम को जाँच के दौरान आश्रम से कई अश्लील विडियो, किताबें और जोश वर्धक दवाएँ बरामद हुई है। बताया जा रहा है की आश्रम चलाने वाला बाबा ख़ुद को कृष्ण समझता था और उसने 16000 लड़कियों के साथ सम्बंध बनाने का लक्ष्य रख हुआ है।

मालूम हो कि हाई कोर्ट के आदेश पर गुरुवार को महिला आयोग और पुलिस टीम ने रोहिणी के विजय विहार में चल रहे आध्यात्मिक विश्वविधालय नामक आश्रम पर छापा मारा। इस दौरान पुलिस ने आश्रम से कई बंधक बनायी गयी लड़कियों को छुड़ाया। बताया जा रहा है की आश्रम चलाने वाला बाबा विरेंद्र देव दीक्षित, आश्रम की लड़कियों का यौन शोषण करता था। वह अपने आप को कृष्ण समझता था और आश्रम में रह रही लड़कियों को उसके साथ सम्बंध बनाने के लिए मजबूर करता था।

सबूत के तौर पर पुलिस को आश्रम से कई विडियो मिली है जिसमें यह देखा जा सकता है की विरेंद्र ख़ुद को कृष्ण बताता था और अपनी अनुयाई लड़कियों को गोपियाँ बनाने का लालच दे उन्हें सम्बंध बनाने के लिए आकर्षित करता था। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद ने बताया कि महिलाओं को नशे के दवा दी जाती थीं. चार मंजिला आश्रम के अंदर बोर्ड पर लिखा था, ‘आपसे कोई पूछे कैसे हो तो बताना-ठीक हैं और खुश हैं.

स्वाति ने यह भी बताया की आश्रम से कई इंजेक्शन भी बरामद हुए है। इसके अलावा रात में लड़कियां यहां से आती-जाती थी. यहां देह व्यापार चलता था. इसके अलावा उम्र होने के बाद महिलाओं को यहाँ बाहर निकाल दिया जाता था। फ़िलहाल आश्रम से बरामद हुई सभी लड़कियों की मेडिकल जाँच करायी जा रही है। वही कुछ परिजन भी अपनी लड़कियों और महिलाओं को खोजने आश्रम पहुँचे है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें