anna

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने चंदा देने वाले लोगों का ब्योरा वेबसाइट से ‘हटाने’ पर आम आदमी पार्टी (आप) की आलोचना की. उन्होंने केजरीवाल को निशाना बनाते हुए कहा कि यदि व्यवस्था में परिवर्तन लाना है तो नेतृत्व को कथनी एवं करनी में फर्क नहीं रखना चाहिए.

केजरीवाल को 23 दिसंबर को भेजे पत्र में अन्ना ने कहा कि ‘देश एवं समाज की बेहतरी के लिए मैंने महाराष्ट्र में लोगों से जुड़े कई महत्वपूर्ण कार्यों को एकतरफ रख दिया और बिना किसी स्वार्थ के आपको समय दिया और देश के लिए बड़ा सपना देखा, लेकिन मेरा सपना बिखर गया.’

उन्होंने आप के निलंबित सदस्य मुनीश रायजादा द्वारा उन्हें लिखे गए पत्र का जिक्र भी किया. रायजादा ने लिखा था कि आप ने जून 2016 से चंदा देने वालों का रिकॉर्ड पार्टी की वेबसाइट से हटा लिया है.

हजारे ने केजरीवाल से कहा कि आपने कई वादे किए. इनमें चंदा देने वालों की सूची पार्टी वेबसाइट पर डालना शामिल था. मुझे जो चिट्ठी मिली है उसे लिखने वाले कार्यकर्ता ने कहा है कि आप की वेबसाइट से चंदा देने वालों का ब्योरा जून से ही हटा दिया गया है.

हजारे ने आगे लिखा है, ‘इससे आपकी कथनी और करनी में फर्क का पता चलता है. देश में बदलाव लाने के लिए ऐसे नेता की जरूरत है जिसकी कथनी और करनी में समानता हो. आपने मुझसे और समाज से वादा किया था कि आप बदलाव लाएंगे. मुझे दुख है कि आप अपने वादे पर खरे नहीं उतर रहे.’


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें