anna

NCP ने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे को आरएसएस का एजेंट बताया हैं. एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने उन पर आरएसएस एजेंट होने के आरोप लगाये हैं.

दरअसल, अन्ना हजारे चीनी सहकारी फैक्ट्रियों पर 25000 करोड़ रुपये के घोटाले की सीबीआई जांच की मांग लेकर बंबई उच्च न्यायालय पहुंचे हैं. नवाब मलिक ने इस बारें में कहा कि हजारे NCP  प्रमुख शरद पवार जैसे वरिष्ठ नेताओं को बदनाम करने के लिए ‘‘आरएसएस के षड्यंत्र’’ में भूमिका निभा रहे हैं. मलिक ने सवाल उठाया कि ‘‘हजारे भाजपा शासित महाराष्ट्र में किसी मुद्दे को लेकर प्रदर्शन क्यों नहीं कर रहे हैं.’’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस मामले में सीबीआई जांच कराने के लिए अन्ना ने दो सिविल जनहित याचिका और एक आपराधिक याचिका दर्ज कराई है.  उन्होंने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग करते हुए दो दीवानी और एक फौजदारी जनहित याचिकाएं दायर की हैं.

याचिका में आरोप लगाया गया है कि पहले इन गन्ना सहकारी फैक्टरियों को रिण के बोझ तले दबा दिया गया और बाद में इन बीमारू इकाइयों को बेमोल बेच दिया. इस पूरे मामले में सरकार, सहकारी क्षेत्र और जनता को 25,000 करोड़ रूपए का नुकसान हुआ है.

Loading...