Wednesday, August 4, 2021

 

 

 

आंध्र प्रदेश के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी को देशद्रोह के शक में किया गया निलंबित

- Advertisement -
- Advertisement -

आंध्र प्रदेश सरकार ने आइपीएस ऑफिसर एबी वेंकटेश्वर रॉव को भ्रष्टाचार और खुफिया जानकारी लीक करने के मामले में  देशद्रोह के संदेह में निलंबित कर दिया गया है। यह फैसला वर्तमान डीजीपी द्वारा 7 फरवरी 2020 को जमा की गई रिपोर्ट के आधार पर लिया गया है।

इस रिपोर्ट में राज्य के लिए खरीदे गए सुरक्षा उपकरणों की खरीद में अनियमितताएं सामने आई हैं। राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए निलंबन के मुताबिक, एबी वेंकटेश्वर रॉव सरकार की इजाजत के बिना अपना निवास नहीं छोड़ सकते हैं।

गोपनीय रिपोर्ट में कहा गया कि राव ने एक फॉरेन डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग फर्म को इंटेलिजेंस प्रोटोकॉल और पुलिस से जुड़ी कई अहम जानकारी दी हैं। जो कि राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने वाला है। वेंकटेश्वर राव को पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के खास माना जाता है।

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि शुरुआती जांच में अनियमितताओं के गंभीर सबूत सामने आए हैं। साथ ही इससे यह भी पता लगता है कि आरोपी अधिकारी ने यह सब जानबूझकर किया है। राव ने अपने बेटे की कंपनी को इजरायल की एक सुरक्षा उपकरण बनाने वाली आरटी इन्फ्लैटेबल्स प्राइवेट लिमिटेड का कॉनट्रेक्ट दिलाने के लिए कई खुफिया जानकारियां साझा की हैं

एबी वेंकटेश्वर रॉव वर्ष1989 बैच के आइपीएस ऑफिसर रहे हैं। टीडीपी शासनकाल में रॉव स्टेट इंटेलिजेंस मुख्यिया रहे हैं। हालांकि सत्ता में वाइएसआरसीपी के शासन काल में आने के बाद उन्हें सभी पदों से दूर रखा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles