Saturday, July 24, 2021

 

 

 

एएमयू मलप्पुरम ने अपनी पहली जज ‘फरहा नाज परवीन’ को किया सम्मानित

- Advertisement -
- Advertisement -

मलप्पुरम: AMUMC, Dept of Law ने फरहा नाज परवीन के सम्मान में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया, जिन्होंने UP PCS (J) 2018 उत्तीर्ण की।

गालिब नश्तर (समन्वयक, विधि विभाग) ने कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए कहा कि एएमयू एमसी अपनी स्थापना के बाद से छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर रहा है। उन्होने कहा, हमारे चार छात्रों ने इस साल यूपी पीसीएस (जे) (मेन्स) क्वालिफाई किया है, जिसमें से एक भाग्यशाली छात्र फरहा नाज परवीन ने आखिरकार साक्षात्कार को क्वालिफाई किया और एएमयू से पहली बार जज बनी।

वहीं डॉ फैसल केपी (निदेशक, एएमयू एमसी) ने फरहा की उपलब्धियों और विश्वविद्यालय केंद्र में ख्याति दिलाने के लिए उनकी प्रशंसा की। उन्होंने एएमयू सेंटर की ओर से सराहना के लिए उन्हें स्मृति चिन्ह भी दिया। इस दौरान शफ़ीक रहमान के.वी. (समन्वयक, व्यवसाय प्रशासन विभाग) ने भी उनकी उपलब्धियों की सराहना की।

छात्रों को संबोधित करते हुए, फरहा ने छात्रों को कठिन और स्मार्ट कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होने उन्हें लगातार आत्म अध्ययन करने की सलाह दी। उन्होंने तर्क दिया कि कोचिंग और कॉन्वेंट एजुकेशनल बैकग्राउंड को अध्ययन के प्रति समर्पण के बजाय प्रतियोगिताओं को क्वालिफाई करने के लिए पूर्व-आवश्यकताएं नहीं हैं और निरंतर प्रयास से खुद को सफल बनाया जा सकता हैं। उल्लेखनीय है कि वह यूपी बोर्ड पृष्ठभूमि से थी और तैयारियों के लिए कोई नियमित कोचिंग नहीं लेती थी।

उन्होने अपनी कामयाबी के लिए अल्लाह का शुक्रिया अदा किया और अपनी सफलता का श्रेय एएमयू सेंटर मलप्पुरम में अपने शिक्षकों के शिक्षण और उनके मार्गदर्शन को दिया। उन्होंने अपने अनुभव साझा किए और प्रतियोगी परीक्षाओं की बेहतर तैयारी के लिए कानून के छात्रों को मार्गदर्शन और उपयोगी टिप्स भी दिए।

दूसरे सत्र में, डॉ अज़मत अली (असिस्टेंट प्रोसेसर, कानून विभाग) ने मेंटर-मेंटी सिस्टम की शुरुआत की। वोट ऑफ़ थैंक्स मोहम्म्द शकील अहमद (सहायक प्रोफेसर, कानून विभाग) द्वारा किया गया। इस दौरान डॉ. शहनवाज अहमद मलिक और नीलम फैजान आदि रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles