नागरिकता संशोधित कानून (CAA) के खिलाफ शाहीन बाग में धरने पर बैठीं महिलाओं की रविवार को दोपहर 2 बजे गृह मंत्री के आधिकारिक आवास पर मुलाकात होनी थी। लेकिन गृह मंत्रालय की और से ऐसी किसी भी मुलाक़ात के बारे में खबरों को खारिज किया गया।

दरअसल, मंत्रालय का कहना है कि गृह मंत्री से मुलाकात के लिए प्रदर्शनकारियों की तरफ से कोई अप्वायंटमेंट नहीं ली गई है। मंत्रालय ने कहा कि शाह से रविवार (16 फरवरी) दोपहर 2 बजे मुलाकात के लिए समय नहीं मांगा गया है, हमसे किसी ने भी अबतक संपर्क नहीं किया है।

दरअसल, प्रदर्शनकारियों की और से जारी बयान में कहा गया था कि ‘अमित शाह जी ने पूरे देश को न्योता देते हुए कहा था कि कोई भी उनसे मिलकर नागरिकता संशोधन कानून से जुड़े मसले पर चर्चा कर सकता है। इसलिए, हम सभी दोपहर 2 बजे उनसे मिलने जाएंगे। हमारा कोई प्रतिनिधिमंडल नहीं है। जिन्हें भी सीएए से दिक्कत है, वे जाएंगे।’

शाह ने भी हाल में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि संशोधित नागरिकता कानून पर जिसको चर्चा करनी है, वह उनके ऑफिस से समय मांग सकता है। वह तीन दिन के भीतर चर्चा करेंगे। हर किसी को शांतिपूर्ण विरोध करने का अधिकार है। हम लोगों के उस अधिकार को स्वीकार करते हैं।’

शाहीन बाग के आयोजकों में से एक सैयद अहमद तासीर ने कहा, ‘हम गृह मंत्री से मिलने को तैयार हैं, लेकिन उन्हें यह स्पष्ट करना चाहिए कि वे कितने लोगों से मिलना चाहते हैं।’ वहीं प्रदर्शनकारी मेहरुन्निसा ने कहा कि हम रविवार को गृह मंत्री के आवास की ओर मार्च करेंगे।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन