Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

अमित शाह ने दिया ‘एक यूनिवर्सल कार्ड’ का आइडिया, पासपोर्ट, वोटर कार्ड, आधार…..

- Advertisement -
- Advertisement -

आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस और बैंक खाते के लिए भविष्य में सरकार आप को एक कॉमन कार्ड जारी कर सकती है। इस बात का इशारा केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने किया है। शाह ने यह भी कहा कि जनगणना 2021 के आंकड़े मोबाइल एप के जरिए जुटाए जाएंगे।

सोमवार को जनगणना भवन के शिलान्यास के मौके पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि देश में पहली बार 2021 की जनगणना डिजिटल तरीके से होगी। इसके लिए केंद्र सरकार एक खास एंड्रायड मोबाइल ऐप विकसित करवा रही है। उन्होंने सभी जरूरी नागरिक सुविधाओं के लिए एक यूनिवर्सल कार्ड लाने के संकेत भी दिए। शाह ने कहा कि आधार, पासपोर्ट, बैंक खाते, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र आदि के बदले सिर्फ एक कार्ड की योजना संभव है।

अमित शाह ने कहा कि देश के सामाजिक प्रवाह, देश के अंतिम व्यक्ति के विकास और देश के भविष्य की योजनाओं के लिए जनगणना आधार है। केन्द्रीय गृह मंत्री ने जनगणना के महत्व को बताते हुए कहा कि जनगणना कोई बोरिंग काम नहीं होता है, बल्कि इससे सरकार को अपनी योजनाएं लागू करने में मदद मिलती है। राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) कई मुद्दों को सुलझाने में सरकार की मदद करता है।

गृहमंत्री ने कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसी योजना, कम लिंगानुपात वाले राज्यों में जन जागृति फैलाना, गर्भपात के कानून को कठोर बनाना जैसे कई प्रयास जनगणना से ही जन्म लेते हैं।

बता दें कि सन् 1865 में सबसे पहले जनगणना की गई तब से लेकर आज 16वीं जनगणना होने जा रही है। अगली यानि कि 16वीं जनगणना साल 2021 में होनी है। शाह ने बताया कि जनगणना 2021 के आंकड़े मोबाइल एप से जुटाने के लिए 12,000 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles