meerut 759 620x400

meerut 759 620x400

लखनऊ | उत्तर प्रदेश में ताजमहल को लेकर जारी विवाद अब थम चूका है. बीजेपी नेताओं समेत कई हिंदूवादी संगठनों के नेताओं ने ताजमहल को भारत की संस्कृति पर धब्बा करार दिया. इसके अलावा बीजेपी विधायक संगीत सोम ने ताजमहल को गद्दारों की निशानी बताया. लेकिन सबसे चौकाने वाला बयान आया बीजेपी सांसद विनय कटियार की तरफ से. उन्होंने ताजमहल को शिव मंदिर बताते हुए इसे तेजोमहालय नाम दिया.

विनय कटियार के इस बयान के बाद कई हिंदूवादी संगठनों की और से ताजमहल के खिलाफ एक अभियान चलाया गया. यहाँ तक की हिन्दू युवा वाहिनी ने ताजमहल परिसर में पूजा अर्चना करने का भी प्रयास किया. इसी को आगे बढाते हुए नव निर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी ने सोशल मीडिया के जरिये ताजमहल को तेजोमहालय दिखाने की कोशिश की. अमित ने तस्वीरो में ताजमहल पर भगवा झंडे फहरा दिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जिसकी वजह से अमित जानी के खिलाफ ताजगंज थाने में धार्मिक भावनाए भड़काने और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया. बाद में इसी मामले में अमित जानी को गिरफ्तार भी किया गया. फिलहाल अमित जानी को जमानत पर रिहा कर दिया गया है. जेल से बाहर आने के बाद अमित जानी ने राज्य की योगी सरकार को खूब भला बुरा कहा. इसके अलावा उन्होंने मुख्यमंत्री योगी के बारे में भी अपशब्द कहे.

अमित जानी ने सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए कहा की  पूर्व मंत्री आजम खां ने कहा था कि ताजमहल को तुड़वा दो लेकिन प्रदेश सरकार ने उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं की. इसके विपरीत जो हिंदू नेता ताजमहल को तेजोमहालय कह रहे हैं, उन्हें जेल में डाला जा रहा है. यह कहते हुए अमित जानी ने अपना सर मुंडवा लिया. इस पर उन्होंने कहा की यह मुंडन प्रदेश सरकार की निति के खिलाफ कराया गया है.

Loading...