amin

शहंशाह ए हिन्द हजरत ख्वाजा गरीब नवाज (रह.) के दरबार में जायरिनों के साथ ख़ादिमों द्वारा की जाने वाली बदसलूकी पर सुन्नी बरेलवी उलेमा भड़क उठे है। आला हजरत के उर्स के दौरान देश भर के मुसलमानो से अपील की गई कि वे दरगाह पर जाने के बजाय ख्वाजा गरीब नवाज का उर्स अपने घरों पर ही मनाएं।

मारहरा की दरगाह के सज्जादानशीन एवं अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के प्रोफेसर सय्यद अमीन मियां ने दरगाह ख़ादिमों के रवैये पर सख्त नाराजगी जाहीर करते हुए कहा कि अजमेर से जिस तरह सुन्नियों को निशाना बनाया जा रहा है। खारिजी और काफिर कहा गया, यह रवैया ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि इन हालात में अजमेर मत जाओ। ख्वाजा गरीब नवाज का उर्स घरों पर करो। अल्लाह यहां से भी फरियाद सुनने वाला है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि कुछ दिनों पहले अजमेर दरगाह के ख़ादिमों का एक विडियो वायरल हुआ था। जिसमे आला हजरत और उनके चाहने वालों के लिए गलत शब्दों का इस्तेमाल किया गया था। जिसके बाद से ही अजमेर ख़ादिमों की आलोचना हो रही थी। साथ ही जायारिनों के साथ होने वाली बदसलूकी का मामला भी उलेमाओं की नजर में था।

Loading...