a7nerm3 jnu school 625x300 09 september 18

केरल में आई भारी बाढ़ ने प्रदेश में भारी तबाही मचाई है। इस तबाही से केरल को उबारने के लिए पूरे भारत में हर मुमकिन मदद की जा रही है। इसी बीच जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के स्कूली बच्चों ने केरल बाढ़ पीड़ितों की पॉकेट मनी से मदद कर बड़ी मिसाल पेश की है।

नर्सरी से 12वीं तक के इन बच्चों ने अपनी पॉकेट मनी से 1 लाख रुपये केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए एकत्रित कर जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार आईपीएस अधिकारी एपी सिद्दीकी को सौंपे। ताकि बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए केरल के मुख्यमंत्री के राहत कोष में जमा करा जा सके।

जामिया में पहले ही यूनिवर्सिटी के छात्र कई लाख रुपये केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए भेज चुके है। इतना ही नहीं जामिया के अध्यापकों ने अपने एक दिन का वेतन भी बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए दान किया था। साथ ही छात्रों ने बड़ी मात्रा में राहत सामग्री भी बाढ़ पीड़ितों के लिए केरल भेजी है।

बता दें कि केरल में बाढ़ से 20 हजार करोड़ का नुकसान हुआ है। केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा है कि उनकी सरकार नरेगा के तहत 26,000 करोड़ की मांग अलग से करेगी। इधर, राज्य सरकार ने बाढ़ में बरबाद हुए घरों की मरम्मत के लिए एक लाख तक का लोन देने का फैसला किया है।

सीएम पिनाराई विजयन ने सूचना दी है कि घर की महिला प्रमुखों को दिए जाने वाले एक लाख तक के लोन पर ब्याज नहीं लगेगा और ये ब्याज सरकार भरेगी। बाढ़ से 1223 लोगों की जान जा चुकी है। पिछले एक पखवाड़े में ही करीब 223 लोगों की जान गई है।

इसके अलावा बाढ़ से 10 लाख लोग बेघर हुए हैं। करीब 2.12 लाख महिलाओं, एक लाख बच्चों समेत 10.78 लाख लोगों ने 3,200 राहत शिविरों में शरण ले रखी है। इस बाढ़ से करीब दस हजार किमी की सड़कें बर्बाद हो गई हैं ओर एक लाख घर तबाह हुए हैं।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें