अलवर में कथित गोरक्षकों द्वारा मुस्लिम युवक पहलू खान की हत्या करने और अन्य लोगों को बुरी तरस से पीट कर घायल करने के मामलें में राजस्थान पुलिस अब तक किसी भी हत्यारे को गिरफ्तार नहीं कर पाई हैं.

वहीँ राजस्थान पुलिस ने गौ-तस्करी के आरोप में सभी पीड़ितों को गिरफ्तार किया हुआ हैं. इन सभी की गिरफतारी घटना के एक दिन बाद दो अप्रैल को हुई हैं. गिरफ्तार आरोपियों में जमशेद खां, इकराम, जिलाउलहक मेव, फारूक मेव, कौमल खां, पप्पू खां, सईद खां, तौफीक खां, कामिल खां, देवेश ठाकुर और एक अन्य है.

इसके विपरीत अब तक पहलू खान की हत्या और अन्य पीड़ितों को पीटने के मामलें में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई हैं. जबकि  इंटेलिजेंस ने सभी आरोपियों की पहचान कर ली हैं. सभी आरोपियों के नाम-पते और हिंदूवादी संगठनों में उनके पद की पूरी रिपोर्ट राजस्थान सरकार को भेज दी गई है. रिपोर्ट के अनुसार, आरएसएस, हिंदू जागरण मंच और गो सेवा समीति के पदाधिकारी इस जघन्य हत्याकांड में शामिल हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रिपोर्ट में सामने आया कि मारपीट की शुरुआत  आरएसएस के संभाग प्रभारी नवीन शर्मा, हिंदू जागरण मंच के कस्बा प्रमुख हुकुमचंद यादव, गो सेवा समीति के अध्यक्ष सुधीर यादव, आखिल भारतीय विधार्थी परिषद के जिला संयोजक ओम यादव और सह जिला संयोजक राहुल सैनी और मानव जागृति मंच के जगमाल सिंह ने की थी.

रिपोर्ट में ये भी बताया गया कि बाद में इन हिंदूवादी नेताओं ने गुजरनेवाले राहगीरों को भी भडकाया. जिसके बाद वे भी इस हमलें में शामिल हो गये. 10 दिन का लम्बा वक्त बीत जाने के बावजूद भी राजस्थान पुलिस किसी भी आरोपी को अब तक गिरफ्तार नहीं कर सकी हैं.

Loading...