सोमवार से शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र से पहले महत्वपूर्ण विधेयकों पर सहमति बनाने और सत्र के दौरान सहयोग के लिए रविवार को संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई।

इस बैठक में कांग्रेस ने कश्मीर में मुख्यधारा के नेताओं की नजरबंदी का मुद्दा उठाया।कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि फारुक अब्दुल्ला साहब जो पिछले तीन महीनों से नजरबंद हैं। सरकार को उन्हें संसद के शीतकालीन सत्र में भाग लेने की अनुमति देनी चाहिए।

आजाद ने साथ ही जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की भी शीतकालीन सत्र में भाग लेने की वकालत की। उन्होंने कहा कि पिछली मिसालें ऐसी हैं कि सांसदों को संसद के सत्रों में शामिल होने की अनुमति दी गई है, भले ही उनके मामलों की सुनवाई की जा रही हो। इसलिए, पी चिदंबरम को भी शीतकालीन सत्र में भाग लेने की अनुमति दी जानी चाहिए।

बैठक में केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत, लोकसभा में नेता विपक्ष और कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी, राज्यसभा में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा शामिल हुए। इसके अलावा टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन, एलजेपी नेता चिराग पासवान, समाजवादी पार्टी नेता राम गोपाल यादव, तेलुगू देशम पार्टी नेता जयदेव गल्ला, वी विजयसाई रेड्डी भी बैठक का हिस्सा रहे।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन