Family members of the government of the flats will Iklak: Akhilesh Yadav

लखनऊ : दादरी के बिसाहड़ा गांव में अख़लाक के हत्या में शामिल एक आरोपी सोनू सिसौदिया को पुलिस ने क्लीन चिट दे दी है.

दादरी के डीएसपी आनंद सिंह का कहना है कि जिस वक़्त दादरी के बिसाहड़ा गांव में अख़लाक की हत्या की गई थी, उस वक्त आरोपी सोनू सिसौदिया गांव में था ही नहीं. जांच के मुताबिक़ उस वक्त आरोपी एक शापिंग मॉल में था.

सोनू सिसौदिया को मिले इस क्लीनचिट के बाद रिहाई मंच नेता शकील कुरैशी का कहना है कि –‘दादरी कांड में जिस तरह से दोषियों को क्लीन चिट दी जा रही है, उसने एक बार फिर साबित किया है कि मुज़फ्फ़रनगर से लेकर फैजाबाद-अस्थान तक जिस तरह से भाजपा व संघ परिवार के लोगों को सपा बचा रही है, वही काम वह दादरी में भी कर रही है.’

उन्होंने आरोप लगाया कि इंसाफ़ का क़त्ल करने की इसी साजिश के तहत सपा ने दादरी, मुज़फ्फ़रनगर समेत किसी भी सांप्रदायिक घटना की सीबीआई जांच नहीं करवाई.

कुरैशी ने आरोप लगाया कि लव जिहाद की तरह विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल के लोग हिंदू लड़कियों की रक्षा के नाम पर 400 संघी गुण्डों की फौज तैयार कर रहे हैं और सपा सरकार मौन है.

उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में जिस तरह से दलितों और मुसलमानों पर हमले बढ़ रहे हैं वह साफ़ कर रहा है कि प्रदेश को सपा-भाजपा दोनों हिंसा की आग में झोंकना चाहते हैं.

बता दें कि पुलिस ने अख़लाक हत्याकांड में पुलिस ने 15 लोगों को आरोपी बनाया था. अब इस मामले में केवल 14 लोग ही आरोपी बचे हैं. हालांकि अभी सोनू को जेल से रिहा नहीं किया गया है, लेकिन उसकी रिहाई की कार्रवाई शुरू कर दी गई है. (TCN)


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें