अखलाक के बेटे दानिश सैफी ने कहा कि एक सोंची समझी प्लानिंग के तहत हमें अपराधियों की तरह “ब्रांडेड” करके फंसाया जा रहा हैं.

अंग्रेजी समाचार पत्र द हिंदू को दिए एक इंटरव्यू में दानिश ने कहा, कथित तौर पर पिछले सप्ताह उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. उन्होने बताया कि उन्हें ठोस रणनीति के तहत अपराधी के रुप में ब्रांड करके फंसाया जा रहा है जबकि वास्तविक मामला पिता अखलाक की हत्या है।.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उसने आगे कहा कि “गोहत्या के निराधार मामले पर मीडिया के प्रवचन के बाद उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. यह एक दुखद वास्तविकता है. मैं और मेरा परिवार तो इस खूनी हमले में बच गया और हमने अपने पिता को खों दिया. लेकिन हमें अपराधी की तरह ब्रांडेड किया गया है. जबकि अपराध यह है कि एक भावनात्मक मुद्दे के झूठ पर एक बेगुनाह व्यक्ति की मौत हो गई लेकिन अचानक से उन्हें भुला दिया गया है और हमें अपनी बेगुनाही का साबित करने के लिए कहा जा रहा है.

अखलाक की 22 वर्षीय बेटी जो ओस्मानिया यूनिवर्सिटी से स्नातक हैं, कहा, मुझे न्यायपालिका में पूरा विश्वास है और हमारे पास छुपाने के लिए कुछ भी नहीं है. हम पहले ही दिन से कहते आ रहे हैं कि घर में कोई गोमांस नहीं था. मुझे पूरा यकीन है कि मेरे पिता की हत्या करने वाले 18 आरोपियों के खिलाफ आरोप बेअसर करने की कोशिश की जा रही है.

Loading...