Friday, August 6, 2021

 

 

 

चिन्मयानंद के बचाव में अखाड़ा परिषद , पीड़िता के खिलाफ कार्रवाई…..

- Advertisement -
- Advertisement -

स्वामी चिन्मयानंद प्रकरण में संतों का शीर्ष संगठन अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद पूर्व भाजपा सांसद चिन्मयानंद के समर्थन में उतर आया है। संगठन ने पीड़िता के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया।

विभिन्न अखाड़ों के शीर्ष संगठन अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने आरोप लगाया कि चिन्मयानंद को ‘बदनाम’ करने की कोशिश हो रही है। परिषद ने दूसरे संतों को ‘ऐसी साजिशों’ से सतर्क रहने की भी हिदायत दी। बता दें कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद में 13 मतों के संतों के प्रतिनिधि शामिल हैं।

दूसरी और चिन्मयानंद से पांच करोड़ रुपये रंगदारी मांगने के आरोप में जेल में बंद विक्रम और सचिन की जमानत अर्जी गुरुवार को जिला जज की अदालत से खारिज हो गई है जबकि संजय की जमानत अर्जी पर 15 अक्टूबर को सुनवाई होगी।

स्वामी चिन्मयानंद के अधिवक्ता ओम सिंह ने बताया कि जिला जज रामबाबू शर्मा की अदालत में विक्रम, सचिन व संजय के अधिवक्ता प्रमोद तिवारी ने जमानत अर्जी दाखिल की थी जिस पर सुनवाई से पूर्व ही उनके अधिवक्ता ने संजय सिंह की जमानत की अर्जी वापस ले ली। इस पर न्यायालय ने 15 अक्टूबर की तिथि सुनवाई के लिए लगाई है।

रंगदारी मांगने के आरोपी विक्रम और सचिन की जमानत अर्जी जिला जज रामबाबू शर्मा ने खारिज कर दी। रंगदारी मांगने के मामले को लेकर अदालत में ओम सिंह तथा जिला शासकीय अधिवक्ता अनुज सिंह ने जमानत का काफी विरोध किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles