dati

दिल्ली के छतरपुर स्थित शनि धाम मंदिर के संस्थापक दाती महाराज उर्फ मदनलाल पर एक महिला के साथ बलात्कार के आरोप के चलते अखाड़ा परिषद् में हंगामा मचा हुआ है।

दाती महाराज को अभी तक महामंडलेश्वर पद से नहीं हटाए जाने पर संत भड़के हुए है। वहीं अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने ऐलान किया हुआ है कि वह महानिर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर दाती महाराज के साथ खड़ा है। परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि का साफ कहना है कि दाती महाराज को साजिश के तहत फंसाया जा रहा है।

अब इस मामले मे भूमापीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ के प्रवक्ता राजेंद्र शर्मा ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि आरोप लगने के बाद दाती महाराज को महामंडलेश्वर पद से नहीं हटाया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

rape11 1

उन्होंने कहा कि  अखाड़ा परिषद के विभिन्न पदों पर आसीन संत वैसे तो बेवजह संतों के खिलाफ व्यक्तिगत आधार पर कार्रवाई करते रहते हैं, लेकिन इतना बड़ा प्रकरण होने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। यह अखाड़ा परिषद के पदाधिकारियों के दोहरे मानदंडों को दर्शाता है।

उन्होंने कहा कि यदि किसी नेता और मंत्री के खिलाफ ऐसे आरोपों में मुकदमा दर्ज हो जाता है, तो उन्हें तत्काल अपने पद से इस्तीफा देना पड़ जाता है। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए ताकि संत समाज की गरिमा पर कोई आंच न आए।

Loading...